Exclusive (ब्रेकिंग) वर्दी वाले गुंडे,अपहरण और ब्लैकमेलिंग के जुर्म में हुए 3 ख़ाकी वाले निलंबित , मामला दर्ज कर जेल भेजने की तैयारी

मनोज कुमार, ब्यूरो कॉर्डिनेटर

पटना Live डेस्क। मुजफ्फरपुर पुलिस को शर्माशर करने वाले एक वाकये में पुलिस वाले ही गुंडे बनकर 5 लाख खातिर अपहरण जैसे गंभीर काण्ड को अंज़ाम दे बैठे है। एसएसपी विवेक कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए स्पष्ट किया है कि कहा पीड़ित के परिजन के बयान पर केस दर्ज कर तीनो आरोपित जवान को जेल भेजने की कानूनी प्रक्रिया की जा रही है। तीनो वर्दीवाले आरोपितों  पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
मिली जानकारी के अनुसार आज दोपहर 12 बजे शशिरंजन मानीकपुर मीनापुर निवासी एक युवक को सिपाही अख्तर शाह ,सिपाही सुमेस्वर सिंह, सिपाही संजीत कुमार द्वारा जीरोमाइल चौक से बिना किसी वरीय पदाधिकारी की सूचना दिये अपने अन्य साथियों के साथ काटी थानांतर्गत इंटर कालेज की ओर ले गये। फिर युवक को छोड़ने के नाम पर पाँच लाख रुपया की मांग करने लगे। इसके बाद युवक के  परिजन द्वारा वरीय पदाधिकारी को सूचना दी गयी। मामले की गंभीरता और वर्दीधारियों की संलग्नता को देखते हुए त्वरित करवाई करते हुए वादी को सम्बंधित सिपाही के साथ पकड़ा गया।


जबकी इन सिपाहियों के अन्य साथी जो स्थानीय व्यक्ति है। पुलिस के आने की सूचना मिलते ही भाग गए। उल्लेखनीय है कि 3 वर्दीधारियों  द्वारा जबरिया अपहृत किया गया युवक एक केस का आरोपित है। इसी मामले में ब्लैक मेल करते हुए टाइगर मोबाइल के जवान और अन्य ने इसे उठाया और पैसे की मांग की।
वही मामले के खुलासे के बाद एसएसपी विवेक कुमार तत्काल प्रभाव से अहियापुर टाइगर मोबाइल समेत तीनो को निलंबित करते हुए कहा की ये बेहद गंभीर मामला है। पीड़ित परिजन के बयान पर एफआईआर दर्ज कर तीनो आरोपित जवान को जेल भेजा जाएगा। वही अब तक मिली जानकारी के अनुसार आरोपित वर्दी वालो पर ब्लैकमेलिंग की कानूनी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है।