पटना में चूहों के शराब पीने की खबर का असर, 90 लाख की जब्त अग्रेजी शराब पर चला बुलडोजर

0
29

पटना Live डेस्क। बिहार में ज़ारी पूर्ण शराबबंदी के दौरान जब्त कर मालखाने में रखा शराब चूहे पी रहे है के आरोप के बाद पटना में आज जब्त लगभग 90 लाख मूल्य के 9600 लीटर शराब पर जिला प्रशासन ने रोलर चलाकर नष्ट कर दिया। दरअसल यह शराब हरियाणा से तस्करी कर पटना लाया गया था और इस शराब को ट्रक सहित उत्पाद और मद्य निषेध विभाग ने पकड़ा था। और इसे वेभरेज कार्पोरेशन के गोदाम में दानापुर में रखा गया था। कानूनी प्रक्रिया पूरा करने के बाद आज पटना के डीएम संजय अग्रवाल के देखरेख में जिला प्रशासन के अधिकारियो और उत्पाद विभाग के पदाधिकारियों के सामने इन शराब की पेटियों पर रोड रोलर चलाकर नष्ट किया गया।

                   पटना के डीएम संजय अग्रवाल ने कहा कि जो भी शराब जब्त है और वे थानों में हो या गोदाम में अब उसे कानूनी प्रक्रिया पूरा कर इसी तरह नष्ट किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शराब के साथ पकडे गए ट्रक,जमींन और मकान की नीलामी भी किया जाएगा ताकि शराब बंदी के बाद तस्करी की हिमाकत कोई नहीं करे।

गौरतलब है कि बिहार में 5 अप्रैल 2016 के बाद शराब बंद है और शराब बंदी कानून के मुताबिक बिहार में शराब रखना , कही ले जाना , पीने पर सख्ती है। बावजूद दूसरे राज्यो से तस्करी के द्वारा शराब लाते हुए अबतक करीब 9.15 लाख विदेशी शराब पकड़ा गया है । जिसमे 8 लाख लीटर शराब बिहार के विभिन्न थानों के मालखानो में बंद है और 1.5 लाख लीटर उत्पाद विभाग के पास जब्त है। विदेशी शराब को नष्ट करने का यह बिहार में पहला अवसर था जहां दो रोड रोलर से शराब को नष्ट किया गया है।