Big Breaking -पटना पुलिस और कुख्यात विकास गिरोह में मुठभेड़, 2 अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे,3 बंदूक समेत कुल 4 हथियार बरामद 

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के नौबतपुर थाना क्षेत्र में पुलिस और अपराधियों के बीच एनकाउंटर के बाद जेल में बंद कुख्यात रंजीत चौधरी का शार्प शूटर और बिहटा में बिट्टू कुमार और शिलांजलि सरकार को गोली मारने में वांछित विकास गिरोह के अपराधियों को मय हथियार गिरफ्तार कर लिया गया है। सूत्रों का दावा है कि अपराधियों के कब्जे से पुलिस ने 3 बंदूक और  पिस्टल पुलिस ने बरामद किया है। इस मुठभेड़ में विकास गैंग और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में विकास बाल बाल बच निकलने में सफल रहा है।
कुख्यात विकास गिरोह के अपराधियों और पुलिस दस्ते के बीच हुए इस इनकाउंटर के बाबत मिली जानकारी के अनुसार बुधवार की देर शाम को थाना पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि कुख्यात शूटर विकास अपने गिरोह के संग अपने गाँव तरारी आया हुआ है। इस सूचना पर नौबतपुर थाना पुलिस  लाव लश्कर के साथ उसके गांव पर तकरीबन साढ़े सात बजे धावा बोल दिया। सूत्रों का दावा है कि पुलिस जब बेला तरारी गांव में प्रवेश कर रही थी तो इस बात की भनक गाँव मे मौजूद विकास और उसके साथ मौजूद अपराधियों को मिल गई। फिर क्या था कुख्यात विकास को बचाने और फरार करवाने खातिर कथित तौर पर ग्रामीणों और अपराधियों द्वारा मोर्चा संभाल लिया गया और पुलिस दस्ता गाँव मे प्रवेश ही कर रहा था कि ताबड़तोड़ फ़ायरींग करना शुरू कर दिया गया।अचानक हुई फ़ायरींग से पुलिस भी भौंचक रह गई और फिर पुलिस वालों ने भी वाहनों से कूद कर मोर्चा संभालते हुए पोजिशन ले लिया और अपराधियों का मुकाबला करने लगे। दोनो तरफ से तकरीबन 30 मिनट तक गोलीबारी हुई है। इस दौरान लगातार हुई फ़ायरींग से पूरा इलाका थर्रा उठा। बताया जाता है कि कम से कम 20-25 राउंड फ़ायरींग की गई। फ़ायरींग का लाभ उठाकर विकास तो फरार होने में सफल रहा। लेकिन फ़ायरींग के बाद पुलिस ने गांव में ताबड़तोड़ छापेमारी कर के मिली जानकारी के अनुसार सुमन सिंह और लालटून सिंह को हथियारों के संग गिरफ्तार कर लिया हैं।
इधर,पुलिस सूत्रों का दावा है कि इस मुठभेड में ग्रामीणों ने भी बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया और जान बूझकर पुलिस बल को रोका ताकि कुख्यात अपराधी विकास फरार हो सके। वही, पुलिस गाँव मे फ़ायरींग के बाद लगातार अपराधियों की धर पकड़ ख़ातिर संदिग्धों को तलाश रही है।
कौन है? विकास सिंह जेल में बंद कुख्यात रंजीत चौधरी गिरोह का शार्पशूटर विकास सिंह मूल रूप से नौबतपुर के तरारी गाँव का रहने वाला है। कई अपराधिक वारदातों को अंजाम दे चुका विकास दो वर्ष पहले नौबतपुर में हुए दोहरे हत्याकांड का आरोपी है। विकास पिछले साल फिर एक बार उस वक्त चर्चा में आया जब इसने 23 नवंबर को बिहटा के दो युवकों बिट्टू कुमार और शिलांजलि सरकार को नौबतपुर रेगनिया बाग गांव में अपने साथी सुगन सिंह और अन्य के साथ मिलकर हत्या करने की नीयत से अन्धधुन्ध फ़ायरींग कर घायल कर दिया था। गोली लगने के बाद बिट्टू ने वाट्सएप पर ऑडियो रिकार्ड कर दोस्तों व परिजनों को भेजा था। अंधाधुंध फायरिंग मे बिट्टू की पीठ में एक गोली लगी थी। जबकि शिलांजलि को पैर,जांघ और कमर के नीचे तीन गोलियां लगी थी। घटना के बाबत स्थानीय लोगों के तस्दीक की थी कि 10-12 राउंड गोली चली थी। तब से पुलिस विकास को गिरफ्तार करने के प्रयास में है।