मीसा भारती के तीन ठिकानों पर ईडी के छापे

0
21

लालू परिवार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. शुक्रवार को पटना में लालू आवास पर सीबीआई रेड की बात अभी थमी भी नहीं थी कि दिल्ली में ईडी ने लालू प्रसाद की बड़ी बेटी मीसा भारती और उऩके पति शैलेष के तीन ठिकानों पर छापामारी की है.  जिन तीन ठिकानों पर छापेमारी की गई है उनमें मीसा भारती के साथ-साथ सरला गुप्ता का फार्म हाउस भी शामिल है. सुबह तकरीबन 9.30 बजे ईडी मीसा भारती के फॉर्म सहित तीन ठिकानों पर पहुंची. बेनामी संपत्ति के मामले में ही यह छापेमारी हुई है. ईडी ने जिन जगहों पर छापा मारा है उनमें बीजवासन, घिटोरनी, सैनिक फार्म हाउस शामिल है.शनिवार को छापेमारी के बाद मीसा के पति शैलेश से ईडी की टीम ने करीब 7 घंटे पूछताछ की. पूछताछ के बाद ईडी की टीम शैलेश को अपने साथ लेकर गई है.

बेनामी संपत्ति के मामले को लेकर ही ईडी ने यह रेड की है. ईडी पहले दर्ज मामलों के आधार पर छापेमारी कर रही है. मीसा भारती के खिलाफ आयकर के साथ-साथ ईडी भी जांच कर रही है. आयकर विभाग के संपत्ति अटैच करने की कार्रवाई के बाद मीसा और शैलेष दोनों पूछताछ के लिये आये थे जिनसे इनकम टैक्स की टीम ने 8 घंटे तक पूछताछ की थी.

क्या है मामला?

एजेंसी की तरफ से की जा रही छापेमारी दो भाइयों सुरेंद्र कुमार जैन और वीरेंद्र जैन तथा अन्य लोगों के खिलाफ मनी लॉंड्रिंग के एक मामले की जांच से संबंधित है. इन लोगों पर आरोप है कि इन्होंने शेल कंपनियों का इस्तेमाल करते हुए कई करोड़ों रुपए के काले धन को सफेद किया.

जैन भाइयों को प्रवर्तन निदेशालय ने पीएमएलए के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया था.

गिरफ्तार भाइयों द्वारा चलाई जा रही कंपनी में से एक फर्म मिशाइल प्रिंटर्स एंड पैकर्स प्राइवेट लिमिटेड भी है. मीसा और उनके पति पहले कथित तौर पर इस फर्म के निदेशक रह चुके हैं.

एजेंसी ने बताया कि इन्होंने पाया है कि मिशाइल प्रिंटर्स एंड पैकर्स प्राइवेट लिमिटेड के 1,20,000 शेयर साल 2007-08 में 100 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से चार मुखौटा कंपनियों शालिनी होल्डिंग्स लिमिटेड, एड-फिन कैपिटल सवर्सिेज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, मणि माला दिल्ली प्रोपर्टीज प्राइवेट लिमिटेड और डायमंड विनिमय प्राइवेट लिमिटेड ने खरीदा था.

एजेंसी ने बताया कि बाद में इन 1,20,000 शेयरों को मीसा ने प्रति शेयर 10 रुपए के हिसाब से खरीदा लिया.

प्रवर्तन निदेशालय ने मीसा से कथित रूप से संबंधित सीए राजेश अग्रवाल को भी गिरफ्तार किया है. अग्रवाल ने मिशाइल प्रिंटर्स एंड पैकर्स लिमिटेड में 60 लाख रुपए की एकोमोडेशन एंट्री की थीं.

मीसा द्वारा शेयर खरीदने से पहले यह फर्म 25, तुगलक रोड पर पंजीकृत थी. साल 2009-10 में इसका पता बदलकर बिजवासन हो गया.