बड़ी खबर – मृत दरोगा के पुत्र का डीएसपी पर संगीन आरोप,दर्ज कराई प्राथमिकी, डीएसपी पर पूर्व में भी लगे है गंभीर आरोप

0
48

पटना Live डेस्क। बिहार के गया जिले के परैया थाना में अवर निरीक्षक गौरी शंकर ठाकुर की आत्महत्या के मामले में गुरुवार की देर रात उनके पुत्र अभिषेक कुमार ने एक आवेदन देकर टिकारी के डीएसपी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। आवेदन में कहा कि उसकी बहन की शादी के लिए लड़का खोजना था।इसके लिए पिताजी को समय नहीं मिल रहा था। पिछले एक साल से वरीय पुलिस पदाधिकारी से छुट्टी मांग रहे थे। कई बार डीएसपी से छुट्टी मांगी, लेकिन छुट्टी नहीं मिली। छुट्टी नहीं मिलने के कारण वे हमेशा तनाव में रहते थे।बराबर कहा करते थे कि पुलिस की नौकरी छोड़ देंगे। पिताजी ने कई बार सूचना दी थी कि छुट्टी मांगने जाते हैं तो डीएसपी गाली-गलौज करते थे। छुट्टी नहीं देने के कारण उन्होंने आत्महत्या जैसा कदम उठाया है। इनकी आत्महत्या में टिकारी डीएसपी का हाथ है। डीएसपी के विरुद्ध कार्रवाई करने का आग्रह किया गया है, जिससे की परिवार को न्याय मिल सके। इस मामले में परैया थाना में कांड संख्या 39 /18 दर्ज किया गया है।
वही,घटना के बाबत परिजनों ने बताया कि गौरी शंकर संघर्षशील व अपने कर्तव्य के प्रति कर्मठ थे। वे आत्महत्या नहीं कर सकते।उनकी हत्या की गई है। परिजनों ने टिकारी डीएसपी पर प्रताड़ित कर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया।
इधर, बिहार पुलिस एसोसिएशन के सभापति अनिरुद्ध यादव ने डीएसपी मनीष कुमार सिन्हा पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। सभापति का कहना है कि लगातार आवेदन के बाद भी उन्हें छुट्टी नहीं दी जा रही थी।उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा था। सभापति यादव ने बताया कि पूर्व में टिकारी डीएसपी पर होमगार्ड के जवान बदतमीजी व खुद के बॉडीगार्ड के साथ दु‌र्व्यवहार का मामला प्रकाश में आया है।