Super Exclusive- (वीडियो) पटना में लड़खड़ाते कदमो की सरेआम दरिन्दगी भरी गुंडागर्दी का टूटा  कहर युवक पर किया जानलेवा हमला, गंभीर हालत में युवक अस्पताल में भर्ती

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र के स्लम एरिया के आज़ाद नगर की सड़क पर उस वक्त अफ़रातफ़री मच गई जब एक लड़के को कई लड़कों ने बेरहमी से मारना शुरू कर दिया और लड़का उनके चंगुल से छूटने खातिर भागने की कोशिश के तहत दौड़ पड़ा लेकिन लड़कों ने उसे खदेड खदेड कर पकड़ा और खदेड खदेड कर बेरहमी से पीटा इतना पीटा की वो अपने ही खून में लथपथ होकर निढ़ाल होकर सड़क पर गिरगया यानी उनकी नज़र में मर हो गया। इस युवक की हालत बेहद गंभीर है। फटे सर पर 17 टांके लगे है। शरीर का अंग अंग जख्मी है।टीस मार की और सवाल दिल मे है क्या राजधानी पटना की सड़कों पर रंगदारों कि सल्तनत है? जबकि बचपन से सुना है कि “कानून का राज” होता है क्या सच मे यही होता है?

अस्पताल के बिस्तर पर पड़े युवक का नाम विनीत कुमार, उम्र 22-23 साल कंकड़बाग के स्लाम एरिया में रहते है।अमूमन ये और इनके घर वाले बिहार सरकार के उच्च पदस्थ अधिकारी वरिष्ठ IAS सुधीर कुमार राकेश के पड़ोसी के तौर पर अपना परिचय देते है। लेकिन, राजधानी पटना की सड़कों पर ये बातें मायने मतलब नही रखती है। विनीत सुबह ही महाराष्ट्र के शहर पुणा से चलकर पटना के कंकड़बाग स्थित अपने घर पहुचे और कुछ देर आराम करने के बाद तकरीबन साढ़े 4 बजे घर से दाढ़ी बनवाने को निकले लेकिन उन्हें क्या मालूम था कि दाढ़ी तो बनेगी नही उलटा अस्पताल में सर पर टांके लग जाएंगे।
बकौल विनीत के उसके मोहल्ले
के रहने वाले लाल उर्फ कुंदन, निखिल और अन्य लड़के उसे मिले और पैसे की मांग की और जैसे ही विनीत ने कहा नही है फिर क्या था पूरी बेरहमी से उसको सड़क पर लात घूसों और डंडे से पीटना शुरू कर दिया। इसी बीच मार रहे लड़कों में एक ने किसी धारदार हथियार से सर पर वार कर दिया जिससे उसका सर फट गया। लेकिन  युवको ने दरिन्दगी की इंतहा दिखाते हुए खून से लथपथ युवको को फिर भी पीटना जारी रखा और जब तक युवक पूरी तरह खून से सराबोर हो कर सड़क पर निढाल नही हो गया उसको पीटते रहे है।
यह दरिन्दगी सरेआम बीच सड़क चलती रही सैकड़ो आखों के सामने डंडे रॉड और धारदार हथियार से युवक को पिटा जाता रहा पर इस दृश्य को देखा सभी ने पर कोई मदद को आगे नही आया। शायद ये खौफ़ की इंतहा थी या पटनावासियों के निष्ठुरता का चरम है।
पटना के साई अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष में ईलाज रत युवक के सर पर 17 टांके है। शरीर का पोर पोर टीसता हुए दर्द की इंतहा पेश कर रहा है। डॉक्टरों का कहना यही लड़के के सर पर जबरदस्त चोट लगी है। अस्पताल के बिस्तर पर बेसुध पड़े इस लड़के का कसूर सिर्फ़ इतना है कि इसने युवको को जो इसके ही मोहल्ले यानी स्लम के आजादनगर रोड नंबर एक के निवासी है को नशे खातिर उनके द्वारा मांगा गया पैसा नही दिया फिर क्या था पिनक में लड़कों ने इसपर कहर बरपा दिया। बोलने में तकलीफ़ के बावजूद जब विनीत ने अपनी कहानी बताई वो पटना के हर माता पिता के चेहरे पर शिकन लाने को काफी है ….सुनिए गुंडागर्दी और दबंगई की वो दास्तान ….