BiG News – आरा में रंगदारी खातिर कोर्ट से फरार हुए कुख्यात हीरो का कहर जारी अब ईट भट्ठा के मुंशी को मारी सरेआम गोली

#बिदंगावा का मनीष सिंह उर्फ हीरो ताबड़तोड़ दे रहा वारदातों को अंजाम
#पटना से कुख्यात बोतल महतो के साथ हुआ था गिरफ्तार

पटना Live डेस्क। भोजपुर जिले में आपराधियों का कहर थमने का नाम नही ले रहा है। पुलिस के तमाम प्रयासों के बावजूद अपराधियों का ताण्डव जारी है।इसी क्रम में 25 अगस्त 2018 को आरा सिविल कोर्ट में पेशी के दौरान हड़कडी सरका कर फरार कुख्यात अपराधी नीरज सिंह उर्फ मनीष सिंह उर्फ हीरो ने रंगदारी खातिर गोलीबारी कर दहशत फैला दिया है।
भोजपुर जिले के कुख्यात अपराधी सरगनाओं में शुमार हो चुके हीरो ने एक बार फिर अपने बंदूकबाजों के जोर पर दहशत फैलाना शुरू कर दिया है। हीरो गैंग ने शहर में उस वक्त दहशत फैला दी जब एक ईंट भट्ठा पर काम कर रहे मुंशी को रंगदारी नहीं देने पर गोली मार दी और फिर कुख्यात हीरो ने ना केवल ईट भट्ठा मुंशी को गोली मारी बल्कि दहशत फैलाने की नीयत से लगभग ताबड़तोड़ 20-25 राउंड फायरिंग कर आतंक का मचा दिया और फिर हीरो लिखा कार्ड को फेंक कर वहां से हथियार लहराते हुए फरार हो गया।
इस घटना के बाद वहां मौजूद स्थानीय लोगों ने जख्मी मुंशी को तत्काल इलाज के लिए आरा सदर अस्पताल लाया जहां फिलहाल उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। बताया जा रहा है कि नगर थाना क्षेत्र के धनुपरा के समीप जेपी ईंट भट्ठा पर मुंशी का काम मंतोष कुमार कर रहा था। इसी दौरान कुख्यात नीरज सिंह उर्फ मनीष सिंह उर्फ हीरो आ धमका और अंधाधुंध फायरिंग करने लगा। इस फायरिंग की घटना में ईट भट्ठा के मुंशी मंतोष कुमार को गोली लग गई। जिससे वह बुरी तरह से जख्मी हो गया। घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और फिलहाल पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है।

आरा सिविल कोर्ट से फरार हीरो का कहर                 बिदंगावा का मनीष सिंह उर्फ हीरो ताबड़तोड़ दे रहा वारदातों को अंजाम दे रहा है। 25 अगस्त को हथकड़ी सरका कर आरा के सिविल कोर्ट से फरार कुख्यात ‘हीरो’ आरा शहर के लिए विलेन बन बैठा। उसने मुन्शी को गोली मारने से पहले आरा शहर में 21 सितंबर को ताबड़तोड़ तीन जगहों पर अंधाधुंध फायरिंग की। इस दौरान उसने तीन लोगों को टारगेट बनाया। हालांकि तीनों बाल-बाल बच गये थे। फायरिंग की घटना नाला मोड़ व टाउन थाना के पीछे एमपी बाग में हुई थी। फायरिंग की ताबड़तोड़ घटनाओं से शहर में खलबली मची गयी थी। सूचना मिलने पर टाउन थाना की पुलिस पहुंची। तब तक वह भाग चुका था। इस दौरान पुलिस को दो खोखे मिले।

मनीष उर्फ नीरज उर्फ हीरो बड़हरा थाना क्षेत्र के बिंदगावां का रहने वाला है। कोर्ट से फरार होने के बाद वो लगातार रंगदारी खातिर कारोबारियों को फोन कर धमका रहा है। वही 21 सितंबर दिन गुरुवार को करीब साढ़े दस बजे उसने नाला मोड़ के समीप कंपाउंडर जीतेंद्र सिंह का पुत्र अंकित राज पर फायरिंग कर दी थी। भाग रहे अंकित पर उसने तीन गोलियां चलायी थी। हालांकि अंकित ने स्थानीय जेपी सिंह के घर में छुपकर जान बचायी। इस दौरान बदमाश ने जेपी सिंह के घर पर भी फायरिंग की। इसके बाद वह टाउन थाना के पीछे एमपी बाग मोहल्ला पहुंचा। वहां पर भी उसने मोहित नाम के एक युवक को टारगेट कर दो राउंड फायरिंग की।इसमें मोहित बच गया था। इस मामले में अंकित राज उर्फ अमन के बयान पर नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। इसमें मनीष उर्फ हीरो को आरोपित किया गया है।

पुलिस ढूढती रही हीरो घूम घूम कर कांड करता रहा 

                            एमपी बाग में दशहत फैलाने के बाद बदमाश करमन टोला होते हुए उदवंतनगर के जीरोमाइल स्थित महिंद्रा ट्रैक्टर के शोरूम में पहुंचे। वहां शोरूम के मालिक भाजपा नेता प्रेम पंकज के कर्मचारियों को ललकारते हुए पूंछा कि “बताओ तुम्हारा मालिक कहां है?” कर्मचारी ने चैंबर की ओर इशारा किया तो बदमाश ने ताबड़तोड़ गोलियां चलाना शुरु कर दी। एक गोली जगदीशपुर थाना क्षेत्र के निवासी राजकुमार मिश्रा के बेटे विपुल मिश्रा को लगी, जो शोरूम पर अकाउंटेंट है। दूसरी गोली काउंटर में लगे शीशे को छेद करते हुए सिंगही गांव निवासी कर्मचारी सरोज रंजन के पेट में लगी। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश शोरूम कर्मचारियों को चेताते हुए बोले कि मालिक से कह देना कि हीरो आया था। यह कहकर दोनों बाइक पर बैठकर जगदीशपुर की ओर भाग गए। घटना के बाद घायलों को इलाज के लिए बाबू बाजार स्थित डॉक्टर विकास सिंह के प्राइवेट क्लीनिक में ले जाया गया। रास्ते में ही विपुल मिश्रा ने दम तोड़ दिया। दूसरे घायल टाउन थाना क्षेत्र के सिंगही गांव निवासी सरोज रंजन का इलाज उन्हीं के क्लीनिक में चल रहा है। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी अवकाश कुमार एवं एसडीपीओ पंकज कुमार जीरो माइल स्थिति महिंद्रा के शोरूम में पहुंचे और कर्मचारियों से बारी-बारी से पूछताछ शुरू की। घटनास्थल से पुलिस ने 4 खोखा बरामद किया था।  रंगदारी के लिए शोरूम पर हमला

शोरूम के मालिक प्रेम पंकज ने इस संबंध में कुछ भी नहीं कहा है, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि रंगदारी मांगने के लिए हमला किया गया। पुलिस ने वहां लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज को कब्जे में ले लिया था। इसमें बदमाश करीब पांच मिनट तक वहां फायरिंग वह अभद्रता करते दिखाई दिया था। उसकी ये वारदात सीसीटीवी में कैद हुई थी।