कुख्यात चांद मिया ने किया कोर्ट में आत्मसमर्पण

0
15

अटल बिहारी पांडेय, संवाददाता, आरा

पटना Live डेस्क। चर्चित व्यवसायी व जमीदार स्वर्गीय रामखेलावन सिंह के पुत्र कृष्णा सिंह की हत्या के मामले में नामजद अभियुक्त कुख्यात चांद मियां ने पुलिसिया दबिश के कारण आरा सिविल कोर्ट के एसीजीएम के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। जिसके कारण पुलिस की पकड़ने की व्यवस्था धरी की धरी रह गई और लाख प्रयास के बाद भी पुलिस अपने मकसद में कामयाब नहीं हो सकी। सूत्रों कि माने तो कुख्यात चांद मिया काफी फूल प्रुफ प्लान के तहत  आरा सिविल कोर्ट में आत्मसमर्पण किया है। जिसकी भनक पुलिस भी नही लगा सकी। ज्ञातव्य हो कि पिछले सप्ताह चर्चित व्यवसायी कृष्ण सिंह को नामजद अपराधियो ने दिन दहाड़े सरेराह गोलियों से छलनी कर दिया था जिससे उनकी मौत हो गई थी। इस मामले में 10 लोगो पर नामजद मामला दर्ज किया गया था जिसके बाद पुलिस लगातार नामजदों के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है व आरोपियों पर पुलिस द्वारा दबिश बनाया जा रहा था जिसके तहत आज कुख्यात चाँद मिया ने आत्म समर्पण कर पुलिस के मनसूबे पर पानी फेर दिया है। दर्ज हत्या के मामले में कुल 10 में से यह पहला अभियुक्त का आत्मसमर्पण था। इस मामले में अभी भी कुख्यात नईम मियां सहित सभी 10 नामजद जिनमें डॉक्टर दानिश रिजवान, मुनु सिंह, इंद्रभान सिंह, टिबला ढिबुआ फरार बताया जा रहे हैं।
सोमवार को आरा व्यवहार न्यायलय के  मुख्य द्वार से लेकर बाहर तक पुलिस की चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था थी। चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात थी। पुलिस चाहती थी कि किसी तरह एक भी अभियुक्त उनके हाथ आए। जिससे पुलिसिया कार्रवाई पर उठ रहे अंगुली पर लगाम लगाया जा सके। मगर पुलिस की व्यवस्था को धता बताते हुए चांद मियां धोखा देकर सिविल कोर्ट के अंदर प्रवेश कर गया और आराम से मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। बता दें कि 30 जून को अपराधियों ने गोला व्यवसाई कृष्णा सिंह की गोली मारकर हत्या कर दिया था। अपराधियों ने उन पर 25 से ज्यादा गोलियां बरसाई थी। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए हत्या में उपयोग किए गए 8 में से तीन हथियार बरामद कर लिया था। जबकि कुख्यात नईम मियां की बहन समेत 7 लोग पकड़े गए थे।

Loading...