पटना आ रही मगध एक्सप्रेस के चालक की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा, इंजन में लगी आग

0
10

पटना Live डेस्क। बिहार के बक्सर जिले में एक बड़े ट्रेन हादसे की साज़िश को अपनी जान की परवाह न करते हुए बेहद साहसिक निर्णय लेते हुए ट्रेन ड्राइवर ने न केवल विफल कर दिया है बल्कि सैकड़ो लोगो की ज़िंदगी बचा ली।दिल्ली से पटना आरही मगध एक्सप्रेस डाउन लाइन से आ रही थी तभी ट्रेन के इंजन में आग लग गई।इंजन से आग की लपट और धुंआ निकलता देख यात्रियों में अफरा -तफरी मच गई। ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोका। इस अफरा-तफरी में कई लोग घायल हो गए। कुछ तो ऐसे भी थे जो चलती ट्रेन से कूद पड़े।ट्रेन में आग लगने की सूचना मिलती ही रेलवे अधिकारियों के बीच हड़कंप मच गया। पटना मुगलसराय रेलखंड के डाउन लाइन पर ट्रेनों का परिचालन रोक दिया गया है।
घटना दानापुर रेल मंडल के टुड़ीगंज-रघुनाथपुर के बीच सोमवार को अपराह्न 3.10 बजे 12402 डाउन मगध एक्सप्रेस को ट्रैक पर सरिया रख दुर्घटनाग्रस्‍त कर दिया गया। इससे इंजन में अचानक आग लग गई,चालक की सूझ-बूझ से बड़ी घटना बची, अन्‍यथा सैकड़ों यात्रियों की जान जा सकती थी। दुर्घटना के बाद ट्रेन में अफरा-तफरी का माहौल बन गया।
जानकारी के अनुसार स्टेशन से ट्रेन लूप के थ्रू पास कर रही थी। इसी क्रम में धरौली हाल्ट के समीप पोल संख्या 631/28 के पास अचानक चिंगारी निकली। इसके बाद इंजन से धुंआ उठने लगा। चालक ने जान की न परवाह करते हुए आपातकालीन ब्रेक लगा कर ट्रेन को रोक दिया।
ट्रेन से उतरने के बाद ड्राइवर ने घटना की सूचना दानापुर कंट्रोल व स्थानीय स्टेशन को दी। इससे रेलवे के अधिकारियों में हड़कंप मच गया। घटना के पल-पल की जानकारी लेने के लिए वे लोग ट्रेन के चालक व गार्ड से संपर्क कर रहे थे। इसी बीच घटना स्थल पर फायर ब्रिगेड को भेजा गया, ताकि आग यात्री बोगी में न पहुंच सके। लेकिन, ट्रेन के गार्ड के पास रखे गए अग्निशमन उपकरणों के माध्यम से आग पर काफी हद तक काबू पा लिया गया।
सूत्रों की माने तो धरौली हाल्ट के समीप पोल संख्या 631/28 के पास मेन डाउन लाइन के बीचो-बीच लोहे के दो मजबूत सरिया किसी ने साजिश के तहत लगा रखे थे। उनसे टकराते ही इंजन से चिंगारी निकलने लगी।सरिया ने इंजन के ट्रांसफार्मर को भी क्षतिग्रस्त कर दिया,जिससे शार्ट सर्किट हुई। इस कारण आग लग गई। घटना के दौरान चालक सूझ-बूझ से काम नहीं लेता तो बड़ी घटना हो सकती थी। ट्रेन के अचानक रुकते ही यात्रियों में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। वे ट्रेन से कूद कर बाहर निकले।