भागलपुर: तेजस्वी के कार्यक्रम स्थल पर लगी धारा 144,नाराज तेजस्वी ने कहा-‘सीएम के निर्देश पर नहीं होने दी गई सभा’

20

कुणाल शेखर/भागलपुर

पटना Live डेस्क. जनादेश अपमान यात्रा पर निकले बिहार विधानसभा में विरोधी दल के नेता व पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के कार्यक्रम स्थल पर बुधवार की देर रात प्रशासन ने सबौर में धारा 144 लगा दी. प्रशासन के इस फैसले के विरोध में राजद कार्यकर्ता उनके साथ रेलवे स्टेशन चौक पर धरना पर बैठ गए और सड़क जाम कर दिया. हंगामा बढ़ता देख भारी संख्या में पुलिस बलों को भी तैनात कर दिया गया.

राजद नेता और कार्यकर्ता सबौर उच्च विद्यालय स्थित सभा स्थल पर धारा 144 लगाने का विरोध कर रहे थे. उनका कहना है कि गुरुवार को 11 बजे सरकारी राजस्व के घोटाले को लेकर सबौर उच्च विद्यालय में उनकी सभा निर्धारित थी. लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रात में पूरे सबौर ब्लॉक में धारा 144 लगवा दी. राजद प्रवक्ता शक्ति यादव ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि ,’नीतीश 28 साल के युवा से घबराकर धारा 144 लागू कर दिये” नीतीश ने इमरजेंसी की याद दिलाई.

तेजस्वी ने कहा कि पहले कार्यक्रम की अनुमति दी गई थी लेकिन अचानक जिला प्रशासन की तरफ से कार्यक्रम की अनुमति को रद्द कर दिया गया. उन्होंने आरोप लगाया कि नीतीश के निर्देश पर सबौर में धारा 144 लगा दिया है, नीतीश कुमार और बीजेपी के लोग नहीं चाहते कि राजद के लोग यहां आएं. आक्रोशित तेजस्वी ने कहा कि सृजन से जुड़े लोगों का विसर्जन करने हम आए हैं. जिस तरह से उनकी सभा की परमिशन रद्द कर उनका अपमान किया गया है यह उनके साथ नाइंसाफी है और लोकतंत्र, संविधान और जनादेश की हत्या के लिए नीतीश कुमार को जनता से माफी मांगनी पड़ेगी. भागलपुर में 2000 करोड़ रुपये से अधिक के सृजन घोटाले में जद(यू) और भाजपा के कई लोग शामिल हैं. पूर्व सांसद, वर्तमान जद(यू) जिलाध्यक्ष और कई बीजेपी नेता और तत्कालीन उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी इसमें संलिप्त हैं. हम माननीय उच्च न्यायालय की निगरानी में सीबीआई जांच की मांग करते हैं. अपने करीबी अधिकारियों से जांच करा कर नीतीश कुमार मामले को रफा-दफा करना चाहते हैं.