समस्तीपुर: पढ़ाने वाला शिक्षक ही बन गया हैवान,फीस नहीं देने पर मासूम बच्ची की जमकर पिटाई,गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

अफरोज आलम/दीपक कुमार/समस्तीपुर

पटना Live डेस्क. यही है आज की शिक्षा व्यवस्था…अगर आपका बच्चा कोचिंग जाता है और आपने समय पर संस्थान की फीस नहीं भरी तो कोचिंग चलाने वाला आपके बच्चे की जान ले सकता है…उसके हाथ-पांव तोड़ सकता है…उसे अपाहिज बना सकता है…और उपरवाले की दया से आपके बच्चे की जान बच भी जाए तो इलाज कराने के नाम पर आपकी कमर टूट जाएगी… ज्ञान देने वाला शिक्षक ही पैसों के लिए आपके बच्चे की जान का दुश्मन बन सकता है…जिस भरोसे के तहत आप अपने बच्चों को उसके हवाले करते हैं हो सकता है कि आपका भरोसा टूट जाए और आपके बच्चे की जान पर बन आए…हाय रे शिक्षा..और हाय रे व्यवस्था…टीचर ही जब बन जाए हैवान तो मां-बाप आखिर अपने बच्चों को शिक्षा के लिए कहां भेजे…मामला समस्तीपुर का है..जहां एक निजी कोचिंग संस्थान का मालिक ही बच्चे की जान का दुश्मन बन गया…बच्ची का कसूर बस इतना कि वो समय से कोचिंग की फीस नहीं भर सकी….फीस नहीं भरने के चलते कोचिंग संस्थान के टीचर ने बच्ची की बेरहमी से पिटाई कर डाली..इतना ही नहीं उसने कमरे को बंद कर उस मासूम की जमकर पिटाई की..वो रोती रही..चिल्लाती रही लेकिन उस वहशी को मासूम पर दया नहीं आयी.. हैवान ने इतना भी नहीं सोचा कि पिटाई के चलते उस नाबालिग बच्ची की जान भी जा सकती है…यह तो भला हो उसके साथ पढ़ने वाली लड़कियों का जिसने उसे अधमरे हालत में उसे घर तक पहुंचाया…मामला नगर थाना के धर्मपुर वार्ड 2 का है..जहां की रहने वाली 12 साल की छात्रा अंशु को कोचिंग शिक्षक राजा बाबू ने फीस ना लाने पर रूम में बंद कर दिया…और उसकी जमकर पिटाई कर दी..उस हैवान के हाथ में जो भी आया उसने उससे मासूम की पिटाई की… घटना समस्तीपुर चकनूर रोड धर्मपुर स्थित गुरुज्ञान मैट्रिक क्लासेज कोचिंग की है…बताया जा रहा है कि मिथलेश राम की पुत्री अंशु धर्मपुर स्थित कोचिंग पढ़ने गई थी…जहां शिक्षकों  ने उससे फीस का पैसा मांगा..मासूम अंशु ने कहा कि वो आज फीस नहीं ला पायी है…बस क्या था हैवान शिक्षक उसकी इस बात पर आग बबूला हो गया…आग बबूला हुए शिक्षक ने पहले तो अंशु को रूम में बंद कर दिया और फिर बड़ी ही बेरहमी से डंडों से उसकी जमकर पिटाई कर दी…मासूम अंशु की हालत देख घबराई मां ने इसकी जानकारी आस पड़ोस के रहने वाले लोगों को दी..छात्रा की हालत देख पड़ोसियों ने अंशु के घरवालों को कोचिंग चलने की सलाह दी…लेकिन इससे पहले ही वो वहशी कोचिंग में ताला जड़कर मौके से फरार हो चुका था…बाद में मासूम अंशु को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसका इलाज जारी है..घटना के बाद अंशु की हालत देख लोगों का गुस्सा चरम पर है…और लोग कोचिंग के खुलने और उस वहशी टीचर के आने का इंतजार कर रहे हैं…