बड़ी खबर -(लुटेरों का सीसीटीवी फुटेज) समस्तीपुर के इतिहास के सबसे बड़े बैंक लूट कांड को अंजाम देने वाले अपराधियों के बाबत मिले अहम सुबूत

96

पटना Live डेस्क। बिहार के समस्तीपुर जिले के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा बैंक लूटकांड को अंजाम देने वाले लुटेरे किस कदर बेख़ौफ़ थे। इस पर पर्दाबताब उठा जब बैंक के सामने एक दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखने से पता चला कि बदमाश एक-एक कर बैंक में दाखिल हुए थे।फुटेज में दिख रहा है कि दो बाइक पर बैग बांधे दो बदमाश बैंक के अंदर गए तो 2 अपराधी सड़क पर निगरानी करते दिख रहे हैं। इस बड़ी लूट कांड के बाद दरभंगा प्रक्षेत्र के डीआईजी विनोद कुमार ने भी बैंक जाकर हालत का जायजा लिया। वही समस्तीपुर पुलिस लुटेरों की तलाश कर रही है।                                                     बिहार के समस्तीपुर में दिनदहाड़े बदमाशों ने भीड़भाड़ वाले इलाके के गोलारोड के यूको बैंक लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दिया और बड़े आराम से फरार हो गए। यूको बैंक में धावा बोलकर कुल 52 लाख से ज्यादा की नकदी लूट ली। बैंक में घुसे तीन बदमाशों ने पहले बैंककर्मियों को बंधक बनाया और फिर इस लूट की वारदात को अंजाम दिया।फरार होते समय बदमाश बैंक के सीसीटीवी की हार्डडिस्क भी निकालकर साथ ले गए।
घटना गुरुवार की सुबह लगभग 10 बजे की है। नगर थाना क्षेत्र के गोला रोड स्थित यूको बैंक में तीन बदमाश हथियार लेकर घुस और बैंक कर्मियों को बंधक बना लिया।फिर बैंक की चेस्ट को खुलवा कर उसमें रखे 52 लाख रुपये निकाल लिए। रकम बैग में रखी। फिर बैंक के सीसीटीवी की हार्डडिस्क निकाली और मौके से फरार हो गए।जाने से पहले बदमाशों ने यूको बैंक का शटर गिराया और उसमें अपना ताला लगाकर फरार हो गए।

घटना की जानकारी मिलते ही 5 मिनट के अंदर एसपी और डीएसपी भारी संख्या में पुलिस बल लेकर बैंक पहुंच गए। ल लूट की घटना के 48 घंटे गुजर जाने के बाद भी समस्तीपुर पुलिस अबतक अंधेरे में हाथ-पैर मार रही है। पुलिस के आलाधिकारी लूट मामले का जल्द पर्दाफाश करने का तो दावा कर रहे हैं, लेकिन यह दावा धरातल पर कहीं टिकता नजर नहीं आ रहा है। वैसे पुलिस के वरीय अधिकारियों का कहना है कि कई स्तर से जांच चल रही है।फलाफल जल्द सामने आयेगा।
मोबाइल फोन से संपर्क करने पर डीआईजी दरभंगा प्रक्षेत्र ने कहा कि पुलिस को कुछ साक्ष्य मिले हैं। इसके सहारे अपराधियों को दबोचने के लिए पुख्ता सुराग की तालाश में आगे बढ़ा जा रहा है। डीआईजी ने बताया कि बैंक के समीप के एक दुकान  से सीसीटीवी का कुछ अहम फुटेज मिला है। इसके आधार पर लुटेरों की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है।