Big News(सीसीटीवी फुटेज) देखिये कैसे बेलगाम अपराधियों ने दानापुर में रंगदारी खातिर की फायरिंग

0
197

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के  दानापुर थानाक्षेत्र के मैनपुर में फेसमस कपड़ा दुकान ननद- भौजाई नामक दुकान पर एक जुलाई दिन रविवार को रंगदारी खातिर इसको लेकर मैनपुरा में अपराधियों ने फायरिंग की और बड़े आराम से चलते बने। दानापुर में कपड़ा दुकान पर फायरिंग करने वाले अपराधियों की तस्वीर सीसीटीवी में कैद हो गई और घटना को 3 दिन बीत चुके है पर पटना पुलिस के हाथ अबतक खाली है।

घटना के बाद से व्यापारियों में जहाँ दहशत का माहौल है। वही दबी जुबान में लोगो का कहना है कि दानापुर में एक बार फिर रंगदारी का कारोबार शुरू हो गया है। दरअसल, दानापुर थाना क्षेत्र के मैनपुरा में रंगदारी को लेकर बाइक सवार बदमाशों ने कपड़ा दुकान पर दिनदहाड़े फायरिंग कर रविवार को दहशत फैला दी। घटना के बाद बदमाश मेनरोड की ओर फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से एक खोखा बरामद किया। वही सीसीटीवी फुटेज को कब्जे लेकर  पुलिस बदमाशों की पहचान कर गिरफ्तारी में जुटी है। वही दुकानदार सोनू ने थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है।
मिली जानकर के अनुसार थाना क्षेत्र के मैनपुरा में सोनू कुमार की कपड़े की दुकान है। रविवार को लगभग 12:15 बजे एक बाइक पर सवार तीन बदमाश आये और फायरिंग शुरू कर दी। घटना के बाद इलाके में अफरातफरी मच गई। घटना के समय बारिश हो रही थी जिसका फायदा उठाते हुए बदमाश फरार हो गए। घटना की सूचना पर थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह पहुंचे व छानबीन में जूट गए।

सीसीटीवी में कैद हुई बदमाशों की तस्वीर

थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह ने बताया कि दुकान के आसपास लगे सीसीटीवी में बदमाशों की तस्वीर कैद हो गई है। सीसीटीवी फुटेज में एक बाइक पर सवार तीन लोग दिख रहे हैं। जिसमें बाइक पर पीछे बैठे युवक ने दुकान के बाहर पहुंचने पर फायरिंग कर रहा है। थानाध्यक्ष ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज में तीनों बदमाशों का चेहरा साफ आया है। सभी मैनपुरा गली से मेनरोड की ओर भाग निकले। बदमाशों की गिरफ्तारी को लेकर छानबीन की जा रही है।

पहले भी फायरिंग कर बदमाशों ने दी थी धमकी

रंगदारी को लेकर 22 जून को भी बदमाशों ने दुकान के पास फायरिंग की थी। दुकानदार सोनू ने बताया कि 23 जून को दो लड़के दुकान पर आए थे और किसी से मोबाइल पर बात कराया। फोन करने वाले ने रंगदारी की माग करते हुए धमकी दी। इस संबंध में थाने में लिखित शिकायत की थी।