तीसरी नोटिस के बाद भी लालू प्रसाद नहीं हुए उपस्थित तो CBI कर सकती है कार्रवाई!

पटना Live डेस्क. रेलवे टेंडर घोटाले में फंसे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव को 3 और 4 अक्टूबर को सीबीआई के सामने उपस्थित होना है..जहां उनसे पूछताछ की जाएगी…इससे पहले सीबीआई की दो नोटिसों के बाद भी दोनों लोग उपस्थित नहीं हुए थे और उन्होंने सीबीआई से कुछ समय की मांग की थी…पूछताछ के लिए इस बार सीबीआई ने लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव को तीसरी नोटिस भेजी है…अगर वो तीसरी नोटिस के बाद भी पूछताछ के लिए उपस्थित नहीं होते हैं तो सीबीआई दोनों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई कर सकती है…इससे पहले सीबीआइ ने लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव को 11 और 12 अगस्त को पूछताछ के लिए तलब किया था… तब उन्होंने पूछताछ में शामिल होने से यह कहकर इन्कार कर दिया था.. कि वे पटना में 27 अगस्त को राजद की रैली में व्यस्त हैं.. उसके बाद सीबीआइ ने दोनों को दूसरी नोटिस जारी कर 25 व 26 सितंबर को तलब किया…फिर दोनों ने पूछताछ में शामिल न होकर अपने वकील के मार्फत एजेंसी को सूचित किया कि वे अपनी व्यस्तता के कारण 25 और 26 सितंबर को भी उपस्थित होने में असमर्थ हैं.. उसके बाद सीबीआइ ने दोनों को तीसरी बार 3 और 4 अक्टूबर को नोटिस जारी कर उपस्थित होने को कहा है…सीबीआइ अब लालू और तेजस्वी के खिलाफ अदालत में आइआरसीटीसी की होटलों को लीज पर दिए जाने में हुए भ्रष्टाचार की जांच में सहयोग न करने.. और सबूतों को नष्ट करने की शिकायत दर्ज करा सकती है…

इससे पहले इस मामले में अभियुक्त बनाए गए राजद सांसद प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता, रांची और पुरी के होटलों को लीज पर लेने वाले विनय कोचर और विजय कोचर के साथ आइआरसीटीसी के तत्कालीन प्रबंध निदेशक पीके गोयल से सीबीआइ पूछताछ कर चुकी है..