Super Exclusive(वीडियो) शर्मनाक – बक्सर में सीएम नीतीश के क़ाफिले पर हमले के बाद जदयू नेताओ और पुलिस की दबंगई देखिये

पटना Live डेस्क।बिहार के बक्सर के डुमरांव में शुक्रवार दोपहर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर ग्रामीणों ने हमला बोल दिया।पथराव में एसडीओ प्रमोद कुमार, डुमरांव थाना प्रभारी सुबोध कुमार, मुख्यमंत्री के गार्ड और तीन पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। बक्सर के डीएम अरविंद वर्मा की गाड़ी पर भी पथराव हुआ। इसमें गाड़ी का शीशा टूट गया।हालांकि कुछ ही देर के बाद स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया। अभी सीएम नीतीश कुमार की नंदन गांव से 3 किमी दूर डुमरांव बीएमपी 4 में सभा हो रही है। मुख्यमंत्री भाषण दे रहे हैं।
लेकिन,लोगो का गुस्से में किया गया पथराव निंदनीय है पर जो नीतीश के समर्थकों और पुलिस वालों ने किया है उसको क्या बोलेंगे ? देखिये और खुद तय करिये .. जब एक व्यक्ति जो ज़मीन पर गिरा है कैसे उसे एक नेता और पुलिस वाले लातों से पीट रहे…

यही वो वीर नेता है जिन्होंने अपने पैरों से एक जमीन पर गिरे शख्स को बेरहमी से पीटा और पीछे से उसकी पत्नी चिल्लाती रही। लेकिन सत्ताधारी दल के इस वीर नेता की हरकत फिर एक बार देखिये …Live

ख़ैर, आपने अब तक महज़ एक अध्याय देखा है। दूसरा देखिये खाकी वाले जिले के बड़े साहब और फिर वही दबंग नेता जी की वीरतापूर्ण पत्थरबाजी …Live

मुख्यमंत्री पटना से सुबह 10:00 बजे बक्सर के लिए निकले थे। 12.35  बजे वे बक्सर पहुंचे। वहां डुमरांव कृषि कॉलेज में कृषि कुंवर सिंह की प्रतिमा का अनावरण किया। इसके बाद मुख्यमंत्री का काफिला डुमरांव से 6 किलोमीटर दूर नंदन गांव पहुंचा। सीएम  तीसरे चरण की समीक्षा यात्रा के क्रम में नंदन गांव पहुंचे थे। मुख्यमंत्री का काफिला गांव के दूसरे टोले में था। वहां विकास कार्यों की समीक्षा कर जब सीएम जाने लगे तो दूसरे टोले के दलित बस्ती के लोगों ने पथराव कर दिया।गांव में 5 टोले हैं। इन्हीं में से एक टोले में दलित बस्ती है। दलित इस बात से आक्रोशित हो गए कि नीतीश कुमार उनके टोले में नहीं पहुंचे जहां विकास कार्य नहीं हो पाया है।