Super Exclusive – राजधानी में सरेआम बीच सड़क मारपीट फिर चाकू लहराते हुई खदेड़ा खदेडी, शोरूम में छिप कर बचाई युवको ने बचाई अपनी जान

पटना Live डेस्क।बिहार में सुशासन है इसके दावे तो पुर जोर है। पुलिस आमआदमी की सुरक्षा में मुस्तैद है इसका दावा भी जोरदार है। लेकिन ज़मीनी हक़ीक़त ठीक इसके विपरीत है। हालात कैसे है इसकी बानगी दिखी सरकरा के नाक के नीचे यानी राजधानी पटना में जब गुरुवार को अचानक सैकड़ो आखों के सामने कुछ युवक आपस मे उलझ पड़े और फिर जमकर मारपीट के बाद एक युवक हाथों में चाकू लेकर 2 युवको को खदेड़ने लगा। दोनों युवक जान बचाने खातिर सड़क पर बेतहाशा दौड़ पड़े और लोगबाग तमाशबीन बनकर देखते रहे।                                        चाकू लिए लड़के के सर पर खून सवार था और वो दोनों के पीछे दौड़ पड़ा। ये घटना राजधानी के किसी गली में घटित नही हुई बल्कि बेहद भीड़ भरे चालू सड़क पर घटित हुई है। ये किसी फिल्म की शूटिंग नही बल्कि हकीकत में घटी घटना थी।यह वाकया पटना पुलिस के सुरक्षा और मुस्तैदी के दावो का असली सच बयां करने को काफ़ी है।इस घटना को दुःसाहसी लड़को ने कंकड़बाग थाने से महज कुछ दूरी पर अंजाम दिया और फिर लड़को को लहूलुहान कर फरार हो गए।
वक्त लगभग एक बजे का रहा होगा। राजधानी पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र की  मुख्य सड़कों में शुमार श्रीराम हॉस्पिटल और पानी टंकी बीच की सड़क अचानक रणभूमि में बदल गई।युवको के एक गुट ने स्कूटी पर सवार दो लड़कों को पहले तो जमकर पीटा और फिर अचानक एक लड़का चाकू लेकर दोनों युवकों कत्ल करने की नीयत से खदेड़ने लगा।मारकुटाई से पहले से ही घायल जान बचाकर कर भाग रहे दोनों लड़को में एक लड़ने ने हाफ पैंट पहना था और दूसरा फूल पैंट, दौड़ते दौड़ते एक कपड़े के बड़े ब्रांड के शो रूम में घुस गए, लेकिन जब वहां पर मौजूद गार्ड ने उन्हें बाहर निकाला तो वो पास ही के एक बिल्डिंग में घुस गए। इसी बीच चाकू लेकर खदेड़ रहा युवक आगे बढ़ गया और इस तरह उन दोनों युवकों की जान बच गई।
यह वारदात लड़को के ग्रुप द्वारा सरेआम सैकड़ो लोगो की मौजूदगी में अंज़ाम दिया गया। बकौल चश्मदिदों के मारपीट खदेड़ा खदेडी रगेदा रगेदी लगभग 20-25 मिनट तक बदस्तूर चलती रही पर पटना पुलिस का एक भी नुमाइंदा वहा नज़र नही आया। ना ही घटना के बाद भी जानकारी लेने की जहमत ही करता दिखाई दिया।
वही सड़क पर मौजूद चाय पान के खोखा लगाने वालों और स्थानीय लोगो का कहना है कि मारपीट और लड़कों के ग्रुपो के बीच रगेदा रगेदी कि घटना अमूमन आए दिन होती है पर पुलिस द्वारा कोई सख्त कार्रवाई नही करती है। इस वजह से इन बाइकर्स का मनोबल चरम पर है। वही,इस घटना के बाबत सूत्रों का दावा है कि मारपीट के शिकार युवको द्वारा कंकड़बाग थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है।ये हालात तब है जब इस घटना की सीसीटीवी फुटेज घटनास्थल पर मौजूद तमाम दुकानों और शो रूम में कैद है। लेकिन पुलिस ने अबतक कोई जहमत नही उठाई है।