BiG News (वीडियो) राजधानी में सरेआम किंग्स ऑफ पटना और माइंस बाइकर्स गैंग में खूनी भिड़ंत, ताबड़तोड फायरिंग में 5 बाइकर्स घायल

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में बाइकर्स गैंगों के बीच वर्चस्व की लड़ाई और नए इलाको पर बादशाहत की जंग खूनी झड़प में तब्दील हो चुकी है। नए इलाके पर कब्जा जमाने और दूसरे गैंग के इलाके को छीनने को लेकर लगातार जंग जारी है। इसी क्रम में गुरुवार की दोपहर तकरीबन सवा 2बजे के आसपास दीघा-रूपसपुर नहर का इलाका 2 बाइकर्स गिरोह में सरेआम बीच सड़क हुई भिड़त में ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्रा उठा। बाइकर्स गैंग के फाइटर्स ने एक दूसरे पर अंधाधुंध गोलियां चलायीं। दोनों ओर से चलीं गोलियों में 5 को गोली लगी है। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक को आईसीयू में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत गंभीर है। वही इस खूनी भिड़ंत की सूचना मिलते ही मौके पर एसएसपी,एसपी,एएसपी सहित भारी संख्या में पुलिस बल पहुंची। पुलिस द्वारा घटनास्थल से कई खोखे बरामद किए गए हैं। इधर, दीघा थाने की पुलिस ने घटना स्थल से एक बाइक जब्त की है।वही,घटनास्थल रूपसपुर थाना क्षेत्र में बताया जा रहा है।
राजधानी पटना में बाइकर्स गैंग का आतंक अपने चरम है। पुलिस की तमाम कोशिशों के बावजूद गुरुवार को दीघा- रूपसपुर नहर रोड पर दिनदहाड़े कुख्यात बाइकर्स गैंग ‘किंग्स ऑफ पटना’ और ‘माइंस’ नामक बाइकर्स गैंग के बन्दूकबाजो के बीच जमकर फायरिंग की घटना को अंजाम दिया गया है। इस खुरेजी में 5 बाइकर्स गोली लगने से घायल हो गए।
मिली जानकारी के अनुसार ‘किंग्स ऑफ पटना’ से जुड़े 3 बाइकर्स पीयूष,अभिषेक और शुभांकर  को गोलियां लगी है। गोली लगने के बाद भी ये तीनो खुद बाइक चलाकर कुर्जी अस्पताल पहुचे और डॉक्टरों से इलाज़ करने की गुहार लगाई। तीनो घायलों को प्राथमिक उपचार कर वहां से उन्हें पाटलिपुत्र स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।                      
वहीं, इस आमने सामने की खूनी भिड़ंत में ‘माइंस’ गैंग के भी दो बाइकर्स भी घायल हुए हैं। घायलों में एक बदमाश की पहचान शुभम ज्योति के रूप में हुई,जबकि दूसरे के बाबत मिली जानकारी के अनुसार वो लड़का फुलवारी शरीफ का रहने वाला है उसके कंधे को बेधती हुई गोली आरपार हो गई है। लेकिन उसके नाम का खुलासा अबतक नही हो पाया है। वही बताया जा रहा है कि पटना पुलिस का वांटेड शुभम और वो दूसरा लड़का कही छिपकर अपना ईलाज करा रहा है।                     एसएसपी और एसपी पहुचे अस्पताल                    वही मामले की छानबीन करने के लिए एसएसपी मनु महाराज,सिटी एसपी अमरकेश डी. दलबल के साथ
पहले घटनास्थल पर पहुचे और मुआयना किया। फिर
सभी उस निजी अस्पताल पहुंचे जहां तीनो घायलों का ईलाज चल रहा है। मनु महाराज ने तीनों घायलों से पूछताछ कर घटना क्रम को जाना।

पहले हुई मारपीट और फिर ….

इस खूनी भिड़त के बाबत जो जानकारी मिली है उसके अनुसार दोनों गैंगों के बीच फायरिंग से पहले शास्त्री नगर थाना क्षेत्र में बीएसईबी डीएवी स्कूल के पास ‘किंग्स ऑफ पटना’ के पीयूष,अभिषेक और शुभांकर ने मिलकर ‘माइंस’ गैंग के दो लड़कों अमन और चंदन को सरेआम बीच सड़क लप्पड़ थप्पड़ कर दिया और फिर धमकाया की ये तो ट्रेलर है नही सुधरोगे तो गोली मार देंगे। मारपीट और धमकाने के बाद तीनों काले रंग की पल्सर पर बैठ कर चलते बने। वही अपनी पिटाई से आहत माइंस गिरोह ने दोनों युवकों ने इसकी खबर अपने गैंग को दी तो फिर माइंस के फाइटर्स भी हिसाब चुकता करने को पीयूष, अभिषेक और शुभांकर की तलाश में सड़कों पर निकल पड़े।

              पुलिस सूत्रों के मुताबिक माइंस गिरोह में फुलवारीशरीफ,समनपुरा और कुर्जी मछली गली के लड़के हैं। ‘किंग्स ऑफ पटना’ गिरोह के सरगना गोलू सिंह के जेल जाने के बाद उन्होंने उसके इलाके में भी पांव पसार दिए थे। गोलू के लड़कों से रंगदारी वसूलने लगे थे। जमानत पर छूटने के बाद गोलू वापस आया तो उसे इसकी जानकारी हुई। उसने लड़कों से कहा कि वे रुपये देने के लिए माइंस गिरोह को रूपसपुर नहर पर भरी दोपहरी में बुलाएं क्योंकि उस वक्त पुलिस की गश्ती पार्टी दूर-दूर तक नहीं रहती। सुनियोजित साजिश के तहत गोलू अपने गुर्गो के साथ माइंस गिरोह का इंतजार कर रहा था। दोनों गैंग का आमना-सामना होते ही मारपीट शुरू हो गई। दोनों ओर से ताबड़तोड़ फायरिंग होने लगी।माइंस गिरोह के गुर्गो की संख्या कम थी, लेकिन वे गोलू व उसके गुर्गो पर भारी पड़े और उन्हें मैदान छोड़कर भागना पड़ा। बताया जाता है कि गोलू घायल साथियों से मिलने के लिए निजी अस्पताल आया था। कुछ देर रुका, लेकिन पुलिस के आते ही पतली गली से निकल गया। माइंस के मछली गली निवासी खुशबू और देव कुमार नामक युवको की तलाश में पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है।                     शुभांकर पर पहले भी हुई थी फायरिंग

पढ़े कब हुआ था शुभांकर पर हमला।

तफ़्तीश का सच – बाइकर्स गैंग के गैंगवार में गोली का शिकार एएन कॉलेज के छात्र नेता अंकुर शर्मा 

आईसीयू में है पीयूष 

घायल पीयूष के पिता राजकिशोर ओझा बीपीएससी में कार्यरत हैं। उसकी कमर में गोली लगी है और उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। वहीं, शुभांकर और अभिषेक की बांह व पैर में गोली लगी है। उनकी हालत खतरे से बाहर है।