क्रूरता की हद महिला को टुकड़ों में काट कर फेंका कही सिर तो कहीं पैर

38

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में क्रूरता की पराकाष्ठा लांघते हुए हुई एक हत्या की सनसनीखेज वारदात ने लोगों को चौंका दिया है। लगभग 30 वर्षीय एक महिला की हत्या कर उसके शव के कई टुकड़े कर काले रंग की पोलोथिन और बैग में भर कर पटना से गया तक रेल ट्रैक के किनारे फेंक दिया गया।
इस बात का खुलासा तब हुआ जब गुरुवार को पटना के जक्कनपुर के गया गुमटी के पास एक महिला का सिर मिला। फिर पटना से करीब सात किलोमीटर दूर परसा बजार के कुसुमपुर नगर में रेलवे ट्रैक के पास एक बोरी में रखा महिला का जांघ मिला।
उल्लेखनीय है कि मंगलवार शाम को गया रेल पुलिस को दो लावारिस बैग से महिला के शव के टुकड़े मिले थे। पुलिस का शक है पटना और परसा से मिले शव के दोनों टुकड़े गया रेलवे स्टेशन से मिले महिला के शव के हो सकते हैं। जक्कनपुर थाने की पुलिस इस संबंध में गया जीआरपी और परसा थाने से संपर्क में है।
पुलिस ने सभी टुकड़ों को जब्त कर लिया है। पुलिस ने बताया कि गुरुवार की सुबह पटना गया रेलवे लाइन से सटे अनिता लेन के सामने एक प्लास्टिग बैग में रेलवे लाइन के पास महिला का सिर मिला। इसके कुछ घंटे बाद ही पुलिस को सूचना मिली कि पटना से सटे परसा इलाके में किसी महिला का धड़ फेंका गया है। पुलिस ने महिला का धड़ बरामद कर लिया। धड़ का हिस्सा जांघ के आधे हिस्से तक ही था। पुलिस का कहना है कि बुधवार को पटना गया पैसेंजर ट्रेन से एक बैग मिला था। लावारिस बैग को जब खोला गया तो उसमें काट कर रखे गए महिला के दो हाथ और दो पैर मिले। पुलिस कयास लगा रही है कि जिस महिला का पटना के जक्कनपुर में सिर मिला है हो सकता है कि यह उसी महिला का पैर-हाथ और धड़ है। हालांकि इस बात की पुष्टि तभी हो सकेगी जब डीएनए टेस्ट किया जाएगा। पुलिस का कहना है कि डीएनए टेस्ट से साफ होगा कि अलग-अलग टुकड़े एक ही महिला के हैं।अभी शव की शिनाख्त नहीं हुई है। महिला के धड़ पर किसी तरह का कोई कपड़ा नहीं था। महिला की उम्र करीब 30 वर्ष के आसपास है। शव देखने से लग रहा है कि करीब तीन दिन पहले इसकी हत्या हुई होगी। शव बुरी तरह खराब हो गया है। इसका रंग काला पड़ गया है। पुलिस इस मामले की तफ्तीश में जुट गयी है।


पुलिस का कहना है कि अपराधियों ने बड़ी निर्ममता से महिला की हत्या की होगी। यह भी संभव है कि पहले महिला की हत्या की, उसके बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए उसे कई टुकड़ों में काटा और फिर ट्रेन से ले जाते हुए अलग-अलग जगहों पर फेंकते चले गए। सभी टुकड़ों रेलवे लाइन के आसपास ही मिले। हाथ-पैर तो ट्रेन के भीतर मिले थे।
इस नृशंस हत्या के बाबत एसएसपी मनु महाराज ने कहा है कि शव के विभिन्न टुकड़ों का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। इसके बाद ही पता चल पाएगा कि दोनों पार्ट्स गया में मिले शव के हिस्से हैं या नहीं। इस संबंध में गया जीआरपी से भी कहा गया है।