मुजफ्फरपुर एसएसपी विवेक कुमार की टीम ने 20 घंटे में खुला अपहरण का राज़

0
22

पटना Live डेस्क। मुजफ्फरपुर में शिक्षक दम्पत्ति के पुत्र अंकुर का सोमवार कोअपहरण अपहरण कर लिया गया था।शहर के निजी निजी विद्यालय का 9वीं क्लास में पढ़ने वाले अंकुर को अपहृत करने के बाद उसके पिता के मोबाइल पर 7 लाख फिरौती की मांग की गई। बेटे के अपहरण की बात पता चलते ही घर मे कोहराम मच गया। लेकिन पिता शत्रुघ्न कुमार ने हिम्मत दिखाते पुलिस में मामला दर्ज करा दिया।
अपहरण का मामला दर्ज होते ही एसएसपी विवेक कुमार ने खुद मोर्चा संभालते हुए। फिरौती की मांग आने वाले नंबर को पहले सर्विजलान्स पर लिया।उक्त नंबर का लोकेशन और कॉल डिटेल्स निकलवा कर एसएसपी के नेतृत्व में पूरी टीम रात में ही अपराधियों की तलाश में निकल पड़ी। रात का अंधेरा और फ़ोन का बदलता लोकेश एसएसपी विवेक कुमार डीएसपी आशीष आनंद और एसआईटी की टीम ने आखिरकार लगतारा नंबर को ट्रेस करना जारी रखा।फिर अचानक वह नंबर समस्तीपुर जिले के एक गांव में जाकर जम गया। फिर क्या था एसएसपी ये नेतृत्व एसआईटी और पुलिस दस्ता ने छात्र अपराधियों के अड्डे से सकुशल बन केवल बरामद किया बल्कि 5 अपहरणकर्ता को भी धर दनोचा साथ ही अपहरण में खातिर यूज़ की गई गाड़ी भी बरामद कर लिया। साथ ही गिरफ्तार अपराधियों के कब्जे से फिरौती मागने खातिर प्रयोग में लाये गए सीम समेत मोबाइल भी बरामद करने में सफलता पाई।
एसएसपी विवेक कुमार ने अपहृत के सकुशल बरमाद और अपहरणकर्ता गिरोह को दबोचने के बाद प्रेस ब्रीफ कर बताया कि अपहरण कांड में मुख्य साजिशकर्ता अंकुर के रिश्ते का चाचा है। वही महज 20 घण्टे में अपहरण कांड का उद्भेदन करके को पुलिस ने बड़ी सफलता पाई है। इधर छात्र के परिजन भी उसकी सकुशल बरामदगी से काफी खुश है।बार बार एसएसपी विवेक कुमार को धन्यवाद दे रहे है तो अंकुर की माँ एसएसपी समेत पूरी टीम को दुआओं से नवाज़ रही है। साथ ही अपहरण में अपनों के शामिल होने से हैरान भी है ।