सृजन साज़िश और खुलासा –(सुपर Exclusive) भागलपुर के डीएम सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार के बाबत बदजुबानी करते है,शराब पीते है, रिश्वतखोरी करते है और रात में महिला मित्र के साथ बाइक पर घूमते है।

पटना Live डेस्क। सृजन घोटाले के धमाके से थर्राये सिल्क सिटी भागलपुर की आबोहवा में इन दिनों सिर्फ सीबीआई तफ़्तीश का डर,पुलिस केस,आरोप- प्रत्यारोप और शहर के एसडीएम रहे कुमार अनुज के किसी भी पल गिरफ्तारी की गूंज सुनाई दे रही है।चुकी भागलपुर में हुए हजारों करोड़ों का सृजन घोटाला , राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का विषय बना हुआ है।घोटाले के साज़िश को बेनकाब कर इस घोटाले ने सरकारी सिस्टम में वर्षों से सेंध मारे भ्रष्टाचार को उजागर कर दिया है तो कथित समाजसेवी संस्थाओं की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान लगा दिया है। पक्ष अपने बचाव में लगा है तो विपक्ष सरकार को घेरने में जुट गया है। कई सरकारी बाबू सलाखों के पीछे पहुँच गए हैं तो कई बड़े माननीयों का नाम रोज इधर-उधर गुलाटी खा रहा है। वर्षों से हो रहे भ्रष्टाचार से न जाने किन कारणों से बेखबर मीडिया अब धुंआधार समाचारी पारी खेल रही है। बातौर डीएम आदेश टी ने वर्षों से चले आ रहे इस गोरखधंधे को तहस-नहस करने की हिमाकत दिखाई है। लगातार तथ्यों को संकलित कर जब डीएम ने मामले के खुलासे की ओर कदम बढ़ाना शुरू किया तो कई  तरह से आदेश तितरमारे पर आरोपो की बौछार की गई। यहा तक कि उनके चरित्र पर भी ऊगली उठाई गई।

उल्लेखनिय है कि आज से लगभग 4 महिने पहले भी उस वक्त सनसनी फैल गई थी जब शहर के बेहद दबंग और विवादास्पद एसडीएम कुमार अनुज की माँ ने भगालपुर के डीएम आदेश टी पर बेहद संगीन और गभीर आरोप लगाया था। बक़ौल तत्त्कालिक एसडीएम (सदर) कुमार अनुज की मां गायत्री देवी के द्वारा युवा जिलाधिकारी आदेश तितरमारे पॉर बेहद संगीन आरोप लगाते हुये आदेश टी के खिलाफ आरोपो की झड़ी लगाते हुए 6 पेज का आरोपपत्र लिख डाला था।

                         अपने पत्र में एसडीएम की माँ ने भागलपुर के डीएम पॉर सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार के बाबत बदजुबानी करते है,शराब पीते है, रिश्वतखोर और रात में महिला मित्र के साथ बाइक पर घूमते है। डीएम को भ्रष्ट व भू-माफिया से संलिप्त बताते हुए सरकार से उनके संपत्ति की जांच कराने की मांग की है।


उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कई बिंदुओं पर छह पेज का पत्र भेजा। पत्र में बाढ़ आपदा की खरीद के एवज में रिश्वत मांगने व प्रभारी सचिव चंचल कुमार के प्रति आक्रोश कुमार अनुज पर उतारने का आरोप लगाया ह  यह भी खुलासा किया कि हाल में डीएम ने अपनी पत्नी के नाम 40 लाख रुपये की
ज्वेलरी की खरीद की है।

आदेश तितरमारे, डीएम, भागलपुर

मुझे कुमार अनुज की मां गायत्री प्रसाद की शिकायत के बारे में कोई जानकारी नहीं है।इस मामले में लगाये गये आरोप के बारे में मुझे कोई प्रतिक्रिया नहीं देनी है।

डीएम पर आरोप

वर्ष 2015 में कुमार अनुज को अजीत शर्मा के पेट्रोल पंप पर छापा पड़वाया व प्राथमिकी का दबाव डाला
फरवरी 2016 में अनाज कालाबाजारी की छापेमारी में क्षेत्रीय पदाधिकारी के खिलाफ प्रपत्र क की सिफारिश को मोटी रकम लेकर छोड़ दिया गया।

#बाढ़ में सबसे अधिक आवंटन सदर अनुमंडल को देकर खरीद के नाम पर रिश्वत के एवज में 20 लाख की ऊगाही की गयी। यह राशि शहरी कर्मचारी किशोर मिश्रा ने दी।

#विवि की 20 एकड़ जमीन मामले में मोटी रकम वसूल कर भू-माफिया के खिलाफ कार्रवाई नहीं की।

# समाहरणालय में आंदोलनरत बेघर लोगों से नहीं मिलना व बाद में कुमार अनुज से लाठीचार्ज करवाना।

# डीएम द्वारा शराब का सेवन नियमित किया जाता है, जिसकी जांच इनके शरीर का टेस्ट करवा कर किया जा सकता है।

बागबाड़ी बाजार समिति के बसाने पर नौ माह तक कुछ नहीं करना व उनके तबादले के बाद दुर्भावना से उनकी जांच करायी।