बिहार में एक व्यक्ति को साँप ने काटा तो आया इतना गुस्सा की साँप को ही ….जानकर आप सन्न रह जाएंगे

0
8

पटना Live डेस्क। अमूमन साँप पकड़ कर लोगअपना जीवन यापन करते है। लेकिन सीतामढ़ी के डुमरा प्रखंड अंतर्गत लगमा गांव निवासी रामाशंकर महतो पिछले 3 सालों से साँप तो पकड़ते तो है पर उसे गाँव से दूर ले जाकर छोड़ देते है ताकि न तो ग्राम वासियो को साँप के काटने से नुकसान हो और न साँप को ही कोई नुकसान पहुचे। अबतक रामाशंकर द्वारा दर्जनों सांप पकड़ आबादी से दूर लेजाकर छोड़ा जा चुके है।रामाशंकर के लिए सांप पकड़ना शगल है। वह अब तक वे दर्जनों सांप पकड़ चुके हैं। परिवार के लोगों को उनके अनोखे शगल से कोई आपत्ति नहीं है।लेकिन, सोमवार को हादसा हो गया और रामाशंकर ने अपना आपा खो दिया। एक साँप ने पकड़ने के दौरान उन्हें डस लिया उन्‍होंने भी गुस्‍से में सांप को काट लिया। फिर, सांप को अपने साथ लेकरअस्‍पताल जा पहुंचे,जहां उनका ईलाज हो रहा है।
मिली जानकारी के अनुसार पेशे से राजमिस्त्री रामाशंकर तीन साल से सांप पकड़ते आ रहे हैं।आपस पास के गावों में जब भी किसी के घर में सांप दिखता है,उनकी खोज होती है। वे सांप को पकड़कर दूर ले जाकर सरेह में छोड़ देते हैं। सोमवार की सुबह गांव के राजेश कुमार के घर में सांप निकला। रामाशंकर ने उसे पकड़कर जंगल में छोड़ दिया।इसके बाद दोपहर में मोतीलाल महतो के घर में सांप निकलने की सूचना पर वे पहुंचे।उन्‍होंने सांप को पकड़ लिया, लेकिन तभी सांप ने उनके दाएं हाथ के अंगूठा में डस लिया। फिर क्या था सांप के काटने पर रामाशंकर को गुस्‍सा आ गया और फिर उन्‍होंने सांप को फन के नीचे एक जगह दांत से काट लिया इस दृश्य को जिसने भी देखा उसके होश उड़ गए। गुस्से में आपा खोकर साँप को काटने के बाद फिर, उसे एक प्लास्टिक के जार में डालकर अस्पताल जा पहुंचे।अस्पताल पहुचने पर डॉक्टरों ने उनका फौरन ईलाज शुरू किया और अब डॉक्‍टर के अनुसार खतरे की कोई बात नही। वही दूसरी तरफ रामाशंकर के गुस्से का शिकार होकर उनके काटने से जख्मी हुआ सांप भी अब बिल्कुल ठीक है। लेकिन इस घटना की चर्चा इलाके में जोरशोर से जारी है।

 

Loading...