करीब पच्चीस साल पहले के मुकदमे में आनंद मोहन ने सांसद पप्पू यादव के खिलाफ दी गवाही

पटना Live डेस्क. पूर्णिया के चांदपुर भंगहा हत्याकांड मामले में पूर्व सांसद आनंद मोहन सिंह ने सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के खिलाफ गवाही दी है.. करीब 27 वर्ष पूर्व मधेपुरा के जानकीनगर थाना क्षेत्र में आनंद मोहन समर्थक दो लोगों की हत्या में तत्कालीन विधायक व मधेपुरा के वर्तमान सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव सहित 11 लोगों को अभियुक्त बनाया गया है….दरअसल ये मामला 7 नवंबर 1991 का है..जब मधेपुरा के जानकीनगर थाने में शंभू कुमार सिंह के बयान पर हत्या का FIR दर्ज करवाया गया था.. दर्ज प्राथमिकी में शंभू सिंह ने कहा था कि वो लोग बनमनखी स्कूल में एक चुनावी सभा की मीटिंग कर मुरलीगंज की ओर जा रहे थे…उनके साथ आनंद मोहन सिंह और अन्य लोग भी अलग-अलग गाड़ियों में चल रहे थे..जानकीनगर से थोड़ी दूर आगे जाने पर रास्ते में एक ट्रक को रोककर मार्ग अवरुद्ध कर दिया गया था…और वहां पहुंचने पर पहले से घात लगाया बैठे अपराधियों ने गोलियां चलाना शुरु कर दिया.. इस घटना में शंभू कुमार सिंह समेत तीन लोगों को गोली लगी थी… जबकि अपराधियों की गोली से अजय सिंह और कलानंद झा की घटना पर ही मौत हो गयी थी..
बाद में शंभू ने ही पुलिस के बताया कि गोलीबारी तत्कालीन विधायक पप्पू यादव और उनके साथियों द्वारा की जा रही थी…मामले की जांच के बाद पुलिस ने इस मामले में चार्जशीट दाखिल की…इसके बाद अदालत में आरोप गठन होने के बाद सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव और कुमार यादव के विरुद्ध ट्रायल शुरू हुआ… शनिवार को ट्रायल के दौरान पूर्व सांसद आनंद मोहन सिंह ने घटना का पूरी तरह समर्थन किया है… इस मामले में अबतक 11 लोगों की गवाही हो चुकी है…और चार लोगों की गवाही होनी अभी बाकी है…