बड़ी खबर (वीडियो) बारात से नाच देखकर घर लौटे पटना के पूर्व डिप्टी मेयर के पति कुख्यात दीना गोप को अहले सुबह AK 47 से भून डाला गया, 2 साथी भी घायल

0
755

पटना Live डेस्क। अपराध के दुनिया से चलकर रियल स्टेट, ठेकेदारी और राजनीति में आया पुर्व वार्ड पार्षद और पटना के पूर्व डिप्टी मेयर अमरावती देवी के पति  दीना गोप को बेखौफ अपराधियों ने अनीसाबाद में एके 47 से भूनकर मार डाला। करीब 20 से 25 राउंड से अधिक चली इस गोलीबारी में दीना गोप के साथ रहे दो अन्य साथी भी घायल हो गए। घायलों में दीना गोप का करीबी विजय और राजू शामिल हैं जिनका इलाज पारस हॉस्पिटल में चल रहा है। घटना पटना खगौल मुख्य मार्ग स्थित दीना गोप के अनीसाबाद स्थित आवास के समीप ही अहले सुबह उस समय हुई जब दीना गोप अपने परिचित ब्रहमपुर निवासी टुनटुन के यहाँ एक शादी समारोह में शामिल होकर घर लौट रहा था। जैसे ही दीना गोप अपने आवास जाने के लिए गाड़ी से उतरा पहले से घात लगाए अपराधियों ने उसपर गोलियों की बौछार कर दी।
वारदात की भयावहता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिस जगह अपराधियो ने दीना गोप की हत्त्या की वहाँ के आसपास की कई दुकानों के शटर में गोलियों के छेद हो गए । दीना गोप पुर्व में वार्ड पार्षद रहा है और उसकी पत्नी अमरावती देवी पटना की डिप्टी मेयर रह चुकी है। घटना को लेकर बताया जा रहा है कि सीसीटीवी में एके 47 लिए अपराधियों की फुटेज मिले हैं। हत्या की वारदात जिस जगह हुई है वहाँ से चंद कदम दूर अनीसाबाद गोलम्बर पर 24 घंटे गर्दनीबाग थाना की पुलिस मौजूद रहती है इसके बावजूद अपराधियो ने इतनी बड़ी वारदात को अंजाम देकर आसानी से फरार हो गए । जबकि बीती रात पटना पुलिस रात भर सड़कों पर वाहन जाँच कर रही थी। ऐसे में पटना में हत्त्या की वारदात पुलिस चौकसी की पोल खोलती है।    दीना गोप की हत्या रियल स्टेट में विवाद को लेकर होने की बात सामने आ रही हैं। दीना गोप पर हत्या ,अपहरण ,रंगदारी के करीब दो दर्जन मामले पटना सहित अन्य जिलों में दर्ज हैं । मृतक दीना गोप के परिवार वाले ने कई का नाम पुलिस को बताया हैं । दीना गोप के ऊपर पटना जिले के सचिवालय , फुलवारीशरीफ, कोतवाली, गर्दनीबाद में रंगदारी, हत्या ,अपहरण के कई मामले दर्ज हैं ।2004 में दीना गोप ने अपने विरोधी और पूर्व वार्ड पार्षद रंजीत गोप की हत्त्या भी अनीसाबाद के हरि ओम पेट्रोल पम्प पर गोलियों की बौछार कर सरेशाम कर दिया था ।
बताया जाता हैं की बदमाश चारों तरह फैले थे और दीना गेप के हर गतिविधियों को पहले से जानकारी रखें हैं । सुत्र जैसा बता रहे हैं की सीसी टीवी में बदमाशों की तस्वीर आयी हैं इसमें ए के 47 लिये बदमाशों को देखा गया हैं।

दीना गोप ठेकेदारी ,रियल स्टेट, शराब का कारोबार से जुड़ा था। उसका कारोबार बिहार के कई जिले सहित झारखंड तक में फैला था। हत्या के पीछे टेंडर वार की आशंका की जा रही हैं और हत्या में शार्प शूटरों का इस्तेमाल किया गया हैं और लाखों की सुपारी से इंकार नहीं किया जा सकता । पीडि़त परिवार अभी ,जहां चुप्पी साधे हुये है वही पुलिस जांच की बात कहं रही हैं और दावा कर रही हैं की जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा । हत्या के पीछे किस गिरोह का हाथ है इसका अभी पता नहीं चल सका है।