ग़ज़ब – चूहों के बाद अब बिहार में कुत्ते हुए शराब पीकर टल्ली, सड़क पर करने लगे अजीबोगरीब हरकते

176

पटना Live डेस्क। सूबे में पूर्ण शराबबन्दी है। इसका बेहद सख्ती से पालन भी किया और कराया जा रहा है। हालात ऐसे है कि सामान्य आदमी शराब का नाम लेने से डरता है। लेकिन यह कानून सिर्फ इंसानों पॉर लागू होता है यह भी बिहार में कई बार सिद्ध हो चुका है। तभी तो अब बिहार में चूहों के बाद अब कुत्ते भी शराब पीकर दिनदहाड़े टल्ली होकर सरेआम ऊटपटांग हरकते कर रहे है। आप सोच रहे होंगे आख़िर ये क्या मज़ाक है। तो जनाब यकीन मनीए न तो हम मज़ाक कर रहे है ना ही आज फर्स्ट अप्रैल है। लीजिये हम आपको पूरा वाक्य तफ़सील बताये देते है।

दरअसल, बक्सर उत्पाद अधीक्षक मनोज कुमार ने बताया कि सर्वोच्च न्यायालय ने 27 अगस्त को जब्त शराब नष्ट करने का आदेश जारी किया था। इसके अलावा जब्त शराब की देखरेख में भी सरकार का बहुत ज्यादा खर्च हो रहा था। इस संबंध में रविवार को मुख्यमंत्री का आदेश जारी होने के बाद  उत्‍पाद विभाग ने सोमवार की रात बुलडोजर चलाकर शराब की बड़ी खेप नष्‍ट की। कुल 87 हजार लीटर शराब नष्‍ट की गई। घनी आबादी वाले क्षेत्र में स्थित उत्पाद विभाग के गोदाम में नष्ट इस शराब की दुर्गन्ध से आसपास के लोगों का बुरा हाल हो गया। महिलाओं व बच्चों को उल्टियां तक होने लगी।

कुत्ते हो गए टल्ली

चूंकि, नष्‍ट शराब की मात्रा इतनी ही ज्यादा थी कि उत्पाद विभाग के विशाल कैंपस में नष्ट करने के दौरान  भरने के बाद नालियों से होकर बहकर निकलनी शुरू हो गई थी। लेकिन, तमाशा तो तब हो गया, जब कुत्ते नशे में धुत्‍त मिले। वहां उत्पाद विभाग द्वारा नष्‍ट की गई श्‍ाराब खुली नालियाें में बहा दी गई। चुकी आवारा कुत्ते नालियों से ही अपनी प्यास बुझाते है। नालियों में बहते शराब को पानी समझकर या कौतूहल में कई अवारा कुत्ते पीने लगे।इसे पीकर आवारा कुत्‍ते टल्‍ली हो गए। वि‍दित हो कि इसके पहले पुलिस ने जब्‍त शराब को चूहों द्वारा नष्‍ट किए जाने का दावा किया था। तब इस खबर की खूब चर्चा हुई थी।


स्थानीय लोगों ने बताया कि शराब नष्ट किए जाने के दौरान उससे उठते दुर्गन्ध के कारण अपने घरों में रहना मुश्किल हो गया था। इस कारण अनेक लोग देर रात तक बाहर ही टहलते रहे। कई स्‍थानीय लोगों ने बताया कि शराब पीकर कई कुत्‍ते सड़कों पर अजीब हरकतें करने लगे। लोगों ने तंज कसा कि बिहार में चूहों व कुत्‍तों पर शराबबंदी लालू नहीं। शुक्र है कि नशे में धुत्‍त इन कुत्‍तों ने किसी को काटा नहीं, अन्‍यथा बड़ा हादसा भी हो सकता था। वही उत्पात विभाग ने शराब के नालियों में बहने व कुत्‍तों के टल्‍ली मिलने की जानकारी से इन्‍कार कर दिया। साथ ही ऐसी किसी जानकारी के होने से भी मना कर दिया।