बड़ी ख़बर – मासूम अफज़ल ने बचाई चाचा नेहरू मदरसे के 4000 बच्चो की जान, पानी मे जहर मिलने की कोशिश को कर दिया नाकाम

63

पटना Live डेस्क। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से एक बेहद खौफज़दा करने वाली ख़बर है। मिली जानकारी के अनुसार मदरसा चाचा नेहरू नामक मदरसे जहां तकरीबन 4000 बच्चे पढ़ते है के वाटर कूलर में “चूहा मारने वाले जहर” के टेबलेट मिलने की कोशिश की गई है।यह मदरसा अल नूर चैरेटिबल ट्रस्ट जो पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की पत्नी सलमा अंसारी द्वारा चलाया जाता है।


ये तो शुक्र है कि असामाजिक तत्वों द्वारा
जब मदरसे के वाटर कूलर के टैंक में “रैट पोइजन” टैबलेट मिलाने की कोशिश की जा रही थी, उसकी वक्त मदरसे का एक छात्र अफज़ल पानी पीने वहां पहुचा। अनजान आदमी को टैंक में कुछ डालते देख लिया तो अफ़ज़ल को उस अपरधियों ने देशी कट्टा दिखाकर चुप रहने की धमकी दी।

वही घटना के बाबत खुलासा तब हुआ जब अफ़ज़ल ने यह बात मदरसे के वार्डेन जुनैद सिद्दीकी को इसकी जानकारी दी। बक़ौल वार्डेन के जब दोनों अपराधी वाटर कूलर में कुछ मिला रहे थे तभी अफ़ज़ल वहां पानी पीने पहुचा। दोनों अपराधियों द्वारा उसे हथियार के बल पर चुप करा दिया गया लेकिन उनके जाते ही अफ़ज़ल ने यह बात तुरंत मुझे बताई। फिर मैंने इस घटना की जानकारी तुरंत स्थानीय पुलिस को दी।

घटना की जानकारी वार्डेन से मिलते ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया और आननफानन में पुलिस का दस्ता मदरसे पहुच और दोनों वाटर कूलर को सील करते हुए इसे फोरेंसिक जांच के लिए रवाना कर दिया। वही इस घटना के बाबत पुलिस ने आईपीएस की धारा 328 (जहर के द्वारा क्षति पहुचाना) और 506 (आपराधिक मकसद) के तहत अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिआ है।


वही घटना के बाबत पूर्व उप राष्ट्रपति के पत्नी सलमा अंसारी ने कहा कि ये बेहद “डरावनी और भयावह” करने वाली कोशिश है। साथ ही उन्होंने मदरसे के वार्डेन जुनैद को मदरसे में तुरंत सीसीटीवी लगाने का आदेश भी दिया है।