बिग ब्रेकिंग -(वीडियो) और बुझ गई प्रॉपर्टी डीलर के घर की रौनक किडनैपर ने किया कुबूल बच्चे को कर दिया कत्ल

0
57

बृजभूषण कुमार, ब्यूरो प्रमुख, पटना सिटी

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के अगमकुआं थाना क्षेत्र से अगवा हुए मासूम बच्चे की हत्या की खबर ने उसके माँ बाप पर कहर बनकर टूट है।अगमकुआं थाना क्षेत्र में गुरुवार को 25 लाख रुपये के लिए दिनदहाड़े प्रॉपर्टी डीलर के बेटे का अपहरण कर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई और उसका शव फेंक दिया गया। बेखौफ हु्ए अपराधियों ने कल रात ही इस हत्या को अंजाम दिया है।कल दिनदहाड़े अपराधियों ने बच्चे के अपहरण को अंजाम दिया और फिर फोन कर प्रॉपर्टी डीलर से पच्चीस लाख की फिरौती की मांग की थी। आज अहले सुबह पुलिस ने एक अपहर्ता को गिरफ्तार कर लिया, पूछताछ में उसने बताया है कि अपहरण के बाद बच्चे की हत्या कर दी गई है।
कुछ देर के बाद गिरफ्तार अपहर्ता की निशानदेही पर बच्चे रौनक का शव तीन दिन बाद संदलपुर शुभम श्रृंगार दुकान से मिला।मृतक बच्चे की उम्र 14 साल है और वह केशव विद्या मंदिर में नौंवी क्लास का छात्र था। कुम्हरार के चाणक्य नगर में अपने परिजनों के साथ रहता था।उसकी डेडबॉडी बरामद होने पर उसके घर पर मातम का माहौल है और पिता की तबियत बिगड़ गई है। इस सूचना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। कल से ही पुलिस अपहृत बच्चे की तलाश के लिए जगह-जगह छापेमारी कर रही थी और अाज गिरफ्तार अपहर्ता ने यह कुबूल कर पुलिस की परेशानी बढ़ा दी है लेकिन अबतक मृतक बच्चे का शव बरामद नहीं हुआ है। कल दिनदहाड़े हुए किशोर के अपहरण से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। कुम्हरार चक निवासी प्रॉपटी डीलर सुधीर कुमार के बेटे रौनक कुमार का स्कूल जाने के क्रम में अपहरण कर लिया गया और फोन पर 25 लाख रुपये की फिरौती मांगी गई। रौनक एक निजी स्कूल में नौवीं का छात्र है। पूरे परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

बहन की कॉपी लेने घर जा रहा थारौनक अपनी बड़ी बहन के साथ बस से स्कूल जाने के लिए निकला। इस बीच उसकी बहन ने रौनक से कहा कि उसकी एक कॉपी घर छूट गई, उसे ले आओ। रौनक कॉपी लेने के लिए घर निकल गया। इसी दौरान उसका अपहरण कर लिया गया। जब वह काफी देर तक नहीं आया तो बहन ने घर वालों को खबर दी। इस बीच रौनक की बहन की सहेली ने बताया कि उसके भाई को कोई बाइक पर बिठाकर जा रहा था। थोड़ी देर में अपहरणकर्ताओं ने घर वालों से बच्चे की बात कराई और उसे मुक्त करने के लिए 25 लाख रुपये की फिरौती मांगी। इसके बाद से परिवार सदमे में आ गया। आनन- फानन परिजनों ने अगमकुआं थाने में शिकायत की। थाना पुलिस ने अपहरण की सूचना वरीय अधिकारी को दी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए विशेष टीम गठित कर दी।

बदमाशों के अगमकुआं में छिपे होने की आशंका

इधर, वरीय पुलिस अधिकारी से लेकर थाना प्रभारी इस मामले में कुछ बोलने को तैयार नहीं। सूत्रों की मानें तो सर्विलांंस के आधार पर पुलिस अपहरणकर्ताओं के करीब पहुंच गई है। आशंका जताई जा रही है, घटना को किसी करीबी ने अंजाम दिया है। पुलिस सूत्रों की मानें तो टीम लगातार अगमकुआं में छापेमारी कर रही है।