Big Breaking(वीडियो)पटना के मोकामा स्टेशन पर शंटिंग में खड़ी फ़ास्ट पैसेंजर ट्रेन में लगी भीषण आग, इंजन समेत 6 बोगिया जलकर खाक

0
17

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के मोकामा रेलवे स्टेशन पर उस वक्त अफरातफरी मच गई जब पटना-मोकामा मेमू ट्रेन में मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात लगभग एक बजे के आसपास अचानक अचानक एक बोगी से आग की लपटें उठने लगी। रेलवे कर्मी जबतक कुछ कर पाते देखते ही देखते आग की लपटों ने एक के बाद एक 6 बोगियों को अपने जद में ले लिया और फिर मेमू ट्रेन की बोगियों में धु धु कर जल उठी। इस आगजनी में फास्ट पैसेंजर मेमू ट्रेन के दो इंजन भी पूरी तरह जलकर खाक हो गए। फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियों को बुलाकर आग पर काबू पाया गया। ट्रेन की रैक में आग लगने के कारण रेल प्रशासन में हड़कंप मच गया। हालांकि, कुछ अन्य बोगियों को भी इस आग लगने से नुकसान पहुंचा है।
घटना के वक्त फास्ट पैसेंजर मेमू ट्रेन दानापुर से शाम पांच बजकर पचास मिनट पर रवाना होकर रात्रि साढ़े दस बजे अपने निर्धारित समय पर मोकामा पहुचकर स्टेशन के 4 नंबर प्लेटफॉर्म पर शंटिंग में खड़ी थी,ताकि सुबह सबेरे पुनः अपने निर्धारित समय पर दानापुर के लिए रवाना हो सके।

आग ट्रेन की एक ही बोगी में लगी थी, लेकिन यह आग बढ़ते हुए 6 बोगियों समेत यूनिट इंजन तक भी जा पहुंची। मोकामा स्टेशन के सूत्रों के अनुसार शॉर्ट सर्किट के कारणआग लगी है। ट्रेन में आग लगने की घटना के बाद स्थानीय रेल प्रशासन में हड़कंप मच गया।आग बुझाने का तत्काल कोई उपाय भी नहीं था। देर रात हो जाने के कारण आग लगने की घटना पर तत्काल काबू नहीं पाया जा सका।
रेल सूत्रों के अनुसार शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी और देखते देखते छह बोगियां खाक हो गई। जानकारी मिलने के बाद आरपीएफ, जीआरपी और मोकामा थाना की पुलिस मौके पर पहुंची।आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया लेकिन आग की भीषणता की वजह से  सफलता नहीं मिली। वही ट्रेन  इंजन के भी जल जाने के कारण अन्य बोगियों को भी ट्रेन से अलग किया जाना संभव नहीं हो सका और बोगियों का जलना जारी रहा।
रेलकर्मियों को शक है कि ट्रैन की 6 से ज्यादा बोगियां जल गई हैं। वही रात दो बजे तक इस भीषण आग पर काबू नहीं पाया जा सका था। देर रात तकरीबन तीन बजे बाढ़ से जिला प्रशासन और एनटीपीसी की दमकल गाड़ी आई और आग पर काबू पाने का प्रयास शुरू किया गया। लेकिन कड़ाके की ठंड और घने कोहरे होने के कारण बचाव कार्य शुरू होने में काफी विलंब हुआ और आग की विकरालता लगातार बढ़ती चली गई। बोगियों में आग लगने की सूचना दिए जाने के बाद भी काफी देर तक दमकल दस्ता मौके पर नहीं पहुच पाया। घने कोहरे की वजह से दमकल वाहनो को भी मोकामा स्टेशन पहुचने में काफी वक्त लगा जिससे आग को फैलने का और विकराल रूप धारण करने का पर्याप्त समय मिल गया।
वही,दूसरी तरफ दानापुर रेल मंडल के सीनियर कमाडेंट सीएम मिश्रा ने बताया कि मोकामा स्टेशन पर शंटिंग में खड़ी मेमू ट्रेन के स्टेबल रैंक से धुआं निकलने की सूचना मिली है। घटना के वक्त रैक खाली होने से अनहोनी जैसी कोई बात नहीं है। प्रथम दृष्ट्या यह बात सामने आई है कि कुछ शरारती तत्व शंटिंग बोगी में बैठकर आग सेंक रहे थे,जिससे यह आग लगी। घुप्प कोहरे की वजह से फायर ब्रिगेड दस्ते को पहुचने में काफी वक्त लग गए।

Loading...