BiG News – बिहार को 36 दुर्दान्त आतंकियों ने बना लिया है अपना ठिकाना, एटीएस को सौपी गई इनकी सूची, ज्यादातर पटना जिले के है निवासी

#देश के अलग-अलग स्‍थानों से गिरफ्तार आतंकियों से पूछताछ में हुआ खुलासा

# बिहार एटीएस को खुफिया विभाग ने सौंपी रिपोर्ट

पटना Live डेस्क। बिहार आतंकियों की सुरक्षित पनाह गार और देश से बाहर निकलने का ट्रांजिट पॉइंट बन चुका है। ये हम नही कह रहे बल्कि आंकड़े और इंटेलीजेंस की रिपोर्ट बताती है। एक बार फिर इस बात का खुलासा हुआ है बिहार आतंकियों के लिए सुरक्षित और मुफीद पनाहगार है। दरअसल देश के अलग-अलग स्‍थानों से गिरफ्तार आतंकियों से पूछताछ में इस बात की लगातार तस्दीक हुई है कि उनके संपर्क सूत्र बिहार से न केवल रहे है बल्कि कई आतंकी बिहार के विभिन्न हिस्सों में पहचान बदल कर रह रहे है। इसकी तस्दीक कई बार हो चुकी है। पिछले साल 13अक्टूबर 2017 में गया में गिरफ्तार आतंकी के जैश-ए- मोहम्मद के सरगना अजहर महमूद से बेहद प्रगाढ़ रिश्ते तो थे ही साथ ही साथ गिरफ्तर व्यक्ति 2008 गुजरात आतंकी हमले का आरोपी था। जो लंबे समय से जिले के डोभी थाना में पहचान छिपकर रह रहा था।

                            वही, अब फिर एक बार देश की।खुफिया एजेंसीज ने स्पष्ट किया है कि बिहार में रह रहे करीब तीन दर्जन आतंकी देश को दहला सकते हैं। खुफिया विभाग ने चिह्नित इन 36 आतंकियों की सूची बिहार एटीएस को सौंपी है।इसको लेकर खुफिया विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। विभाग ने एटीएस को जिन आतंकियों की सूची सौंपी है, उनकी पहचान देश के अलग-अलग हिस्सों से गिरफ्तार आतंकियों ने केवल पहचान की बल्कि उनके लंबे समय से आतंकी गतिविधियों में शामिल रहने की ताकीद की है। सूबे में स्लीपर सेल के कई मॉड्यूल पहले से मौजूद है। वही अब इस नए अलर्ट से स्थिति की गंभीरता बेहद बढ़ गई है।

पटना जिले के है निवासी

इन्टरलीजेंस एजेंसीज ने बिहार एटीएस को जो सूची सौपी है, इस सूची में 36 आतंकियों के नाम पते है। ये वो आतंकी है जो मुल्क के अलग-अलग शहरों को दहलाने की साजिश रच रहे है। सौपी गई आतंकियों की सूची में ज्यादातर आतंकी पटना जिले के निवासी है और इनकी गतिविधियां राजधानी के आस पास के इलाकों से डिकोड की गई है। बिहार एटीएस को मिली सूची के ये आतंकी अपने आका के इशारे पर देश के किसी भी कोने में जाकर आतंक फैला सकते हैं।
साथ, ही जारी अलर्ट में इस बात की भी तस्दीक की गई है कि आतंकी राजधानी पटना समेत सूबे में भी त्योहारों के दौरान लोगो के भीड़ को निशाना बना सकते है। किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम दे सकते हैं। यह भी बताया गया है कि घटना को अंजाम देने से पहले आतंकी खोमचे वाले जैसे रूप धारण कर स्थल की रेकी करते हैं। ये आने-जाने के लिए सार्वजनिक वाहन जैसे बस-ट्रेन आदि का उपयोग करते हैं। इसके लिए विभाग ने सीसीटीवी फुटेज पर निगरानी रखने और उनका गहन विश्लेषण की आवश्यकता जताई है। खुफिया विभाग ने सभी आतंकियों के नाम की लिस्ट भी जारी कर दी है।

जारी लिस्ट के कुछ नाम पते

खुफिया विभाग की ओर से जारी कुछ आतंकियों के नाम : 1. शेखावत अली उर्फ मुन्ना भाई, पिता रहमतुल्ला फुलवारी शरीफ, पटना 2. रियाजुल मुजाहिद उर्फ खुशरू भाई, पिता युसुफ मलिक, फुलवारी शरीफ, पटना 3. जियाउद्दीन अंसारी उर्फ जलालुद्दीन अंसारी उर्फ जिया भाई, पिता नईम अंसारी, फुलवारी शरीफ 4. सैयद साह हसीब रज्जा उर्फ हबीब रजा, पिता स्व. फिरदौस रजा, फुलवारी शरीफ, पटना 5. मो. शकील, पिता अबु मोहम्मद, फुलवारी शरीफ, पटना 6. मंजर परवेज, पिता अब्दुल क्यूम, फुलवारी शरीफ, पटना 7. मो. जावेद, पिता एसएम अकील, दानापुर, पटना 8. मो. अबरार आरिफ, अमीन मंजील, एक्जीविशन रोड पटना 9. मो. इतसामुल हक, खगौल, पटना।

वहींं आतंकी हमले के अलर्ट और जारी आतंकियों की सूची के बाबत बिहार के एडीजी मुख्यालय एसके सिंघल ने इस बात पर ज्यादा कुछ न बोलते हुए कहा कि इस पर अभी कुछ भी बोलना मुनासिब नहीं है क्योंकि कई राज्यों की पुलिस इस पर काम कर रही है।