Big News-(एक्सक्लूसिव वीडियो) बिहार के एक आश्रम में हुआ साध्वियों से रिवाल्वर के बल पर दुष्कर्म, मामले दर्ज आरोपी सभी सेवादार फरार

पटना Live डेस्क। बिहार के नवादा जिले में एक बेहद शर्मशार करने वाली घटना ने आवाम को सन्न कर दिया है। मिल रही जानकारी के अनुसार जिले के गोविंदपुर थाना क्षेत्र के बहियारा मोड़ स्थित संत कुटीर आश्रम में रिवॉल्वर के बल पर तीन साध्वियों के साथ दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस दुष्कर्म को आश्रम के ही सेवादारों ने अंजाम दिया है। दुष्कर्म करने का आरोप उत्तर प्रदेश के बस्ती जिला के लालगंज थाना क्षेत्र के सेलरा गांव निवासी कल्पनाथ चौधरी, गिरजाशंकर चौधरी,तपस्यानंद उर्फ श्यामचंद उर्फ श्याम चौधरी व अजीत चौधरी और दिलचंद पटेल पर लगा है। साथ ही 5 अज्ञात को भी इस दुष्कर्म की घटना में आरोपित किया गया है।
इस कांड की प्राथमिकी नवादा जिले के गोविंदपुर थाना में नामजद सेवादारों के खिलाफ दर्ज कराई गई है। इस सनसनीखेज वारदात को 12 दिसंबर 2017 को अंजाम दिया गया। लेकिन मामले के बाबत एफआईआर 4 जनवरी 2018 को दर्ज कराई गई है। थाने में मामला दर्ज होते ही पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी खातिर आश्रम में दबिश दी लेकिन सभी फरार हो चुके थे।दुष्कर्म आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लागतार उनके संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। इधर, मामले की गंभीरता को हुए पुलिस ने बुधवार यानी 10 जनवरी की रात को पीड़िताओ को मेडिकल के लिए नवादा सदर अस्पताल लेकर गई लेकिन रात्रि बेला में चिकित्सकीय जांच नहीं हो सकी। वही गुरुवार 11 जनवरी को गोविंदपुर थाना पुलिस द्वारा पीडि़त साध्वियों का अदालत में 164 का बयान दर्ज कराया गया। वही,आश्रम में दुष्कर्म की शिकार पीडि़ताओ में 2 साध्वी जहा मूल रूप से उत्तरप्रदेश की रहने वाली है। वही तीसरी बिहार के गया जिले कि मूल निवासी है।
इस दुष्कर्म की घटना के बाबत नवादा के एसपी विकास बर्मन ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। घटना के बाबत एसपी नवादा ने बताया कि बकौल पीडि़ताओ के घटना के वक्त यानी 12 दिसंबर 2018 को रात्रि 10 बजे जब तीनों साध्वी आश्रम के  अपने कमरे में खाना बना रही थी। तभी आश्रम के सेवादारों कल्पनाथ चौधरी, दिलचंद पटेल और तपस्यानंद और अन्य जबरिया उनके कमरे में घुसे और गाली-गलौज करते साध्वियों को दबोच लिया और उन्हें अपनी हवस का शिकार बना लिया। इस दौरान दो अन्य आरोपी हाथों में रिवॉल्वर लेकर खड़े रहे और लगातार धमकाते रहे। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी वारदात के बाबत पुलिस को सूचना देने पर जान से मारने की धमकी देते हुए कमरे से निकल गए।खौफ़ की वजह से आश्रम छोड़ासंत कुटीर आश्रम में दुष्कर्म की शिकार एक पीडि़ता ने बताया कि यह पहला वाक्या नही जब आरोपियों ने दुष्कर्म जैसा घिनौना कृत्य किया हो। पूर्व में आश्रम में तकरीबन 3 महीने पहले भी आरोपियों ने एक साध्वी को अपनी हवस का शिकार बनाया था। दुष्कर्म की बात पर तब जमकर इनका विरोध हुआ तो रिवाल्वर से ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए सभी को दहशतज़दा कर जमकर उत्पात मचाया था। आरोपियों के द्वारा फायरिंग के दौरान आश्रम का एक व्यक्ति गोली लगने से जख्मी हो गया था। लेकिन तब आश्रम की प्रतिष्ठा और अन्य बातों का हवाला देकर मामले को पुलिस तक नहीं पहुचने दिया गया था। वही आरोपियों की दंबगई और फायरिंग इत्यादि की डर से तीनो पीड़ित साध्वी घटना के बाद भयवश आश्रम छोडक़र बंगाल चली गई थी। लेकिन आश्रम के कुछ लोगों के द्वारा समझाने और हौसला देने के बाद सभी नवादा आश्रम वापस लौटी और फिर गोविंदपुर थाना में पहुच कर दुष्कर्म की प्राथमिकी दर्ज करा दिया है।