बड़ी खबर – मुज़फ़्फ़रपुर एसएसपी विवेक कुमार की टीम को मिली बड़ी कामयाबी,10 अपराधकर्मी 4 देशी कट्टा समेत हुए गिरफ्तार

मनोज कुमार, ब्यूरो कोर्डिनेटर, मुजफ्फरपुर             पटना Live डेस्क।बिहार के मुजफ्फरपुर जिले की सतर्क पुलिस ने कैश लूट की घटना को अंजाम देने की फिराक में लगे एक लुटेरा गैंग को समय रहते दबोच लिया और लूट की बड़ी वारदात को समय रहते टालने में कामयाब रहे। मिली जानकारी के अनुसार एसएसपी मुजफ्फरपुर को सूचना मिली कि अपराधियों का एक दस्ता एक व्यापारी का पैसा और वाहन लूटने के लिएदो सेंट्रो कार से मोतीपुर थाना क्षेत्र में मडरा रहे है। सूचना मिलते ही एसएसपी ने मामले के बाबत अधीनस्थों को फौरन दिशा निर्देश जारी करते हुए अपराधियों को अविलंब गिरफ्तार करने का आदेश दिया। एसएसपी से मिले फरमान के अवलोक में थानाध्यक्ष मोतीपुर ने तत्काल त्वरित कार्यवाई करते हुए दल बल के साथ NH 28 वर्जिपुल के पास वाहन की सघन तलाशी अभियान शुरू कर दिया।
वाहनों की तलाशी के दौरान पुलिस जिन दो चिन्हित कार की तलाश कर रहे थी। वो वाहन आखिरकार दिख ही गया। लेकिन पुलिस को देख कर दोनो सेंट्रो कार नंबर जिनका रजिस्ट्रेशन नंबर क्रमशः डी एल 3ca 9494 और बी.आर.1AA 4550 था में सवार सभी कारो को हाइवे पर ही छोड़ कर कर कर भागने लगे। सभी को भागता देखकर थाना अध्यक्ष मोतीपुर अपने साथ के पुलिस पदाधिकारी एवं बल के साथ भाग रहे व्यक्तियों का पीछा किया और सभी को लंबी दूरी तक खदेड़कर पकड़ लिया। पकड़े गए सभी अपराधियों को समय रहते एसएसपी के दिशा निर्देश पर पुलिस ने सूझबूझ दिखाते धर दबोचा।
गिरफ्तार अपराधियों में देवी लाल सैनी,विजय सहनी,अलवेन्द्र कुमार,कृष्णा कुमार, उपेंद्र महतो,रविन्द्र कुमार,लाल बाबू महतो,रामा कुमार सहनी, छोटेलाल सहनी,रामा मांझी शामिल है। ये सभी जरायमपेशा है। वही दोनों कारो की तलाशी के दौरान पुलिस को अपराधियों के पास से 4 देसी कट्टा,11 जिंदा गोली, दो सेंट्रो कार एवं रॉयल स्टैग अंग्रेजी शराब 750 ML का दो बोतल बरामद हुआ है। गिरफ्तारी के वक्त इनमें कई अपराधियों ने शराब पी रखी थी।
इस संबंध में मोतीपुर थाना कांड सं०-452/17 दिनांक-08/12/17 धारा-399/402 भा०द०वि० एवं 25(1-b)a/26/35 आर्म्स एक्ट एवं 30(a)/38/41बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद अधिनियम 2016 दर्ज किया गया है। वही मुजफ्फरपुर एसएसपी के नेतृत्व में पुलिस ने न केवल एक बड़ी वारदात को समय रहते न केवल रोक लिया बल्कि इस 10 सदस्यों के गैंग को पकड़कर अन्य वारदातों के सच को उजागर कर उनका उद्भेदन करने में सफलता पाईं है। अनुमान लगाया जा रहा है कि पूछताछ के दौरान सूबे के अन्य जिलो में भी गिरफ्तार अपराधियों द्वारा किये गए काण्डों के बाबत खुलासे होंगें।